पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तारीख बढ़ाना सराहनीय कदम: रतनलाल कटारिया

punjabkesari.in Friday, Sep 30, 2022 - 03:59 PM (IST)

चंडीगढ़( चन्द्र शेखर धरणी): पूर्व केंद्रीय जल शक्ति व सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्री व सांसद  रतनलाल कटारिया ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की अंतिम तारीख बढ़ाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  का आभार व्यक्त किया है। रतनलाल कटारिया ने  कहा कि 'प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में कैबिनेट द्वारा पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को आगामी 3 माह तक बढ़ाने का  निर्णय अभिनंदनीय है। 'अंत्योदय' को समर्पित यह निर्णय करोड़ों परिवारों के लिए मुफ्त राशन की उपलब्धता को सुनिश्चित करेगा।

 

रतनलाल कटारिया ने  कहा कि मोदी जी के 8वर्ष के शाशन काल में समावेशी भारत का उदय हो रहा है l मावेशी विकास का मतलब एक ऐसे विकास से है, जहां सभी के लिए समान अवसर हों। सरकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम वर्ग तक पहुंचे। समावेशी विकास का बल जनसंख्या के सभी वर्गों के लिये बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने पर होता है, मतलब आवास, भोजन, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ के साथ-साथ एक गरिमापूर्ण जीवन जीने के लिये आजीविका के साधनों को उत्पन्न करना। इन सब के साथ समावेशी विकास के लिये पर्यावरण संरक्षण का भी ध्यान रखा जाना आवश्यक है।

 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत प्रदेश में अनुमानित लाभार्थियों की संख्या 1.30 करोड़ से अधिक है। सरकार द्वारा तैयार की गई रूपरेखा के अनुसार, अंत्योदय व अन्य पात्र परिवारों के राशन कार्ड धारकों को प्रदेश भर की दुकानों के माध्यम से राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। रतनलाल कटारिया ने कहा कि इस स्कीम के तहत देश की 80 करोड़ जनता को मुफ्त राशन दिया जाता है। यह योजना 30 सितंबर को खत्म होने वाली थी लेकिन अब इस योजना को तीन महीने और यानि दिसंबर 2022 तक बढ़ा दिया है। स्कीम में विस्तार के बाद इसमें आने वाली लागत 44,700 करोड़ रुपये आंकी गई है।

 

रतनलाल कटारिया ने कहा कि साल 2020 के मार्च महीने में कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लान्च की गई थी। इसके तहत BPL कैटेगरी वाले परिवारों को मुफ्त राशन की सुविधा मिलती है। इसके तहत हर माह प्रत्येक व्यक्ति को 4 किलोग्राम गेहूं और 1 किलोग्राम चावल मुफ्त दिया जाता है। रतनलाल कटारिया ने  बताया कि अब तक कई बार इस स्कीम में विस्तार किया जा चुका है। इससे पहले मार्च 2022 में मुफ्त राशन की इस योजना को छह माह के लिए अप्रैल-सितंबर 2022 तब बढ़ाया गया था।  इस स्कीम के लागू होने के बाद से राशन की दुकानों से सब्सिडी वाले अनाज के अलावा मुफ्त राशन उपलब्ध कराई जाती है। इस योजना से कोरोना काल में गरीब परिवारों को बड़ी सहायता मिली है। 

 

रतनलाल कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए 1 जुलाई, 2022 से महंगाई भत्ते (डीए) और पेंशनभोगियों को महंगाई राहत में 4 फीसद की बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी। देश में लगभग 50 लाख केंद्रीय कर्मचारी और 61 लाख से अधिक पेंशनभोगी हैं। इस वृद्धि का फायदा, लगभग 48 लाख केंद्रीय कर्मियों और 64 लाख पेंशनरों को पहुंचेगा। अगर किसी कर्मचारी का मूल वेतन 18 हजार रुपये है और डीए में चार फीसदी की वृद्धि होती है तो 38 फीसदी महंगाई भत्ते के हिसाब से उसके वेतन में लगभग 720 रुपये बढ़ जाएंगे

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static