किसान आंदोलन ने फिर से साबित किया कि हिंदुस्तान जिंदा दिल लोगों का देश है: शमशेर सिंह गोगी

punjabkesari.in Saturday, Dec 11, 2021 - 10:44 AM (IST)

चंडीगढ़( चंद्रशेखर धरणी): 15 महीने बाद किसान आंदोलन की समाप्ति होने पर इस आंदोलन में हिस्सा लेने वाले और किसी भी तरह से सहयोग करने वाले सभी लोगों को मेरा सेल्यूट है। इस आंदोलन के जरिए देश का संविधान- लोकतंत्र मजबूत हुआ है और इस आंदोलन ने फिर से यह साबित किया है कि हिंदुस्तान जिंदादिल लोगों का देश है। देश की सरकार द्वारा तानाशाही चलाने के बावजूद किसानों द्वारा बेहद अच्छे तरीके से आंदोलन को जारी रखा गया और अपनी मांगों को मनवाने के लिए सरकार के हर जुल्म को सहन करके किसानों ने यह जीत दर्ज की है।

इसलिए किसान बधाई के पात्र हैं और इनकी इस जिंदादिली के कारण प्रधानमंत्री को सदबुद्धि आई है। यह बात असंध से कांग्रेसी विधायक शमशेर सिंह गोगी ने कही है। उन्होंने कहा है कि किसान पर तरह-तरह के इल्जाम लगाए गए। तरह-तरह के तरीकों से बेइज्जती करने का काम किया गया। लेकिन अंत में किसान की सहनशक्ति जीत गई। यह लोकतंत्र की जीत हुई है। जिसके लिए मैं किसानों को बधाई देता हूं।

 गोगी ने कहा कि मैं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से विनती करता हूं कि इस आंदोलन के दौरान किसी भी कारणवश- किसी भी गलती से जो 700 किसानों ने शहादत दी। उन्हें मुआवजा दो या ना दो, क्योंकि जिंदादिल लोगों के लिए मुआवजा ज्यादा मायने नहीं रखता उनके लिए सम्मान मायने रखता है। इसलिए इस समय पार्लियामेंट में सेशन भी चल रहा है। हमारी पार्लियामेंट में कैबिनेट एक लाइन का रेजुलेशन अवश्य डालें। जिन लोगों ने लोकतंत्र संविधान बचाने के लिए अपने जीवन की आहुति दी है, उन्हें देश की सरकार को श्रद्धांजलि अवश्य देनी चाहिए।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static