पानी न आने पर किसानों ने काट दी एक्सईन कार्यालय की बिजली, जानिए फिर क्या हुआ

9/19/2019 7:33:53 PM

हांसी(संदीप): विधानसभा चुनाव से पहले हल्के में पानी के मुद्दे को लेकर किसान भड़के हुए हैं। किसानों ने सिंचाई विभाग के कार्यालय में पानी को लेकर जमकर हंगामा किया। एक तरफ भारतीय किसान युनियन ने एक्सईन का घेराव कर कार्यालय की बिजली काट दी। वहीं दूसरी तरफ बीड़ माईनर के किसानों ने टेल तक पानी न आने की मांग को लेकर नारेबाजी की। 

हिसार मेजर डिस्ट्रीब्युट्री में पानी न होने पर भड़के भारतीय किसान युनियन के सदस्यों ने सिंचाई विभाग के एक्सईन का घेराव किया। पांच घंटे तक कार्यालय की बिजली बंद रखी। नायब तहसीलदार व पुलिस के समझाने के बावजुद किसान नहीं माने और कार्यालय में डटे रहे। शाम सवा छह बजे एक्सईन फिर से कार्यालय में पहुंचे और पानी देने का आश्वासन दिया। फिर जाकर किसान माने और वहां से गए।

PunjabKesari, haryana

किसानों का कहना है कि हिसार मेजर डिस्ट्रीब्युट्री में पिछले दो दिनों से पानी नहीं है। उन्हें 7-10 दिन तक पानी चाहिए, जिससे फसल बढिय़ा हो। किसानों का कहना है कि दो दिन पहले डिस्ट्रीब्युटरी में पानी था, लेकिन वित मंत्री के कहने पर पानी को सुंदर ब्रांच में भेज दिया गया। जिससे किसानों को समस्या हो रही है। किसानों के खेत सुख रहे है। अगर अधिकारियों से इस बारे में पुछा जाता है तो वह कहते हैं कि पीछे से पानी नहीं आ रहा।

मंत्री के कहने पर माईनर में पानी देने की बात कही जाती है। किसानों ने कहा कि सिंचाई विभाग के अधिकारियों से इस बारे में कई बार शिकायत की है, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। जबकि यमुना में हजारों क्युसिक पानी छोड़ा गया है। इसके बावजुद भी पानी नहर में नहीं आ रहा। किसान अपनी इस मांग को लेकर भारतीय किसान युनियन के बैनर तले सिंचाई विभाग के कार्यालय में पहुंचे। 

वहां पर पहले सिंचाई विभाग के एक्सईन संदीप माथुर के कार्यालय का घेराव किया। किसान उनके कार्यालय के बाहर बैठ गए। पुरे कार्यालय की बिजली काट दी गई। किसानों का कहना था कि वह भी पुरे दिन गर्मी में रहते हैं व खेती करते हैं, कुछ समय अधिकारी व कर्मचारी भी गर्मी में बैठे तो उन्हें पता चलेगा। किसानों ने एक्सईन को उनके कार्यालय से बाहर नहीं जाने दिया। पहले वहां पर पुलिस पहुंची।

PunjabKesari, haryana

पुलिसकर्मी एक्सईन को वहां से बाहर ले जाने लगे, लेकिन किसानों ने नहीं ले जाने दिया। पुलिस ने मामला दर्ज करने की चेतावनी भी दी, लेकिन किसान नहीं माने। किसानों का कहना था कि एसडीएम वहां आए और आश्वासन दें। क्योंकि एक्सईन कई बार आश्वासन दे चुके हैं। इस पर नायब तहसीलादर राजेंद्र कुमार वहां पहुंंचे। उन्होंने किसानों को समझाया कि एक्सईन एसडीएम के पास जाकर समस्या रखेंगे और इसका समाधान करेंगे। तब जाकर किसानों ने एक्सईन संदीप माथुर को नायब तहसीलदार के साथ जाने दिया। देर शाम तक एक्सईन वापिस नहीं पहुंचे। 


Shivam

Related News