सिंघु बॉर्डर हत्या मामले में किसान आंदोलन के नेता बराबर के भागीदार: दुष्यंत चौटाला

10/16/2021 7:13:32 PM

गुुरुग्राम (मोहित): हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सिंघु बॉर्डर पर हुई जघन्य हत्या मामले पर प्रतिक्रिया दी है। दुष्यंत चौटाला ने इस मामले में किसान आंदोलन के नेताओं को बराबर का भागीदार बताया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में जितना हत्या करने वाला व्यक्ति जिम्मेवार है उतनी ही जिम्मेदारी इस आंदोलन को चलाने वाले नेताओं की है, इस दोष में वह भी भागीदार हैं। उप मुख्यमंत्री ने मामले की निंदा करते हुए कहा कि जिस तरह से निर्मम तरीके से व्यक्ति की हत्या की गई है, वह बड़ी निंदनीय घटना है।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि फिलहाल इस पूरे मामले की पुलिस जांच कर रही है, लेकिन इस पूरे आंदोलन को संयुक्त किसान मोर्चा चला रहा है, जिसमें करीब 40 लोग किसान नेता के तौर पर शिरकत कर रहे हैं। इस हत्या मामले में इन 40 लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी लेनी चाहिए क्योंकि यदि किसी आंदोलन में इस तरह से कोई अपराध किया जाता है तो उसकी जिम्मेवारी इस आंदोलन को चलाने वाले नेताओं की होती है। उन्होंने कहा कि कानून को हाथ में लेने की गुस्ताखी किसी को नहीं करनी चाहिए। जितना हत्या करने वाला व्यक्ति जिम्मेवार है उतनी ही जिम्मेदारी इस आंदोलन को चलाने वाले नेताओं की है इस दोष में वह भी भागीदार हैं।

वहीं दुष्यंत चौटाला ने ऐलनाबाद उप चुनाव पर बोलते हुए कहा कि बीजेपी और जेजेपी का गठबंधन उम्मीदवार मैदान में है और पार्टी के तमाम नेता मिलकर प्रचार में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि गठबंधन के उम्मीदवार की निश्चित तौर पर उपचुनाव में जीत होगी, भले ही कुछ लोग किसान आंदोलन को आड़ में माहौल खराब कर रहे हो। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि अभय चौटाला को राजनीति में कोई भी सीरियस नहीं लेता और ऐसे व्यक्ति को जनता सब जानती है और इस उपचुनाव में यह सब स्पष्ट भी हो जाएगा।

गुरुग्राम में आबकारी एवं कराधान विभाग के नए कार्यालय का उद्घाटन
उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने आज गुरुग्राम सेक्टर-32 में बनाए गए आबकारी एवं कराधान विभाग के नए कार्यालय का उद्घाटन किया। इस कार्यालय का उद्देश्य एक छत के नीचे विभाग के सभी अधिकारी को बिठाना है, जिससे लोगों को इससे फायदा मिले। डेढ़ एकड़ में जमीन पर 6 मंजिल के कार्यालय भवन का निर्माण कार्य 23 जनवरी 2018 को शुरू किया गया था और इस पर लगभग 45 करोड़ की लागत आई है। 

इस बारे में जानकारी देते हुए उप मुख्यमंत्री ने बताया कि नए भवन में ज्वाइंट एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर और डिप्टी एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर के कार्यालयों के साथ पीए स्टाफ व वेटिंग एरिया आदि की व्यवस्था भी की गई है। इसके अलावा 75 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता का एक कांफ्रेंस हाल भी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि नए कार्यालय भवन में अधिकारियों के कक्षों के अलावा रिकॉर्ड रूम, सेंट्रल कंप्यूटर लैब, ऑडिट पार्टी के लिए कक्ष, दो कोर्ट रूम, अधिवक्ताओं के लिए बार रूम, कैंटीन, जब्त किए गए सामान के लिए स्टोर की भी व्यवस्था की गई है। कार्यालय भवन में चार लिफ्ट लगाई गई हैं तथा वाहनों के लिए बेसमेंट में तीन स्तरीय पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इससे पहले ये ऑफिस सेक्टर 34 में किराए की इमारत में चल रहा था। वहीं विभाग के 650 लोगों के बैठने की व्यवस्था है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static