किसानों ने शिक्षा मंत्री को दिखाए काले झंडे, घेराव करने की भी कोशिश, पुलिस बल ने रोका

punjabkesari.in Sunday, Feb 28, 2021 - 11:03 AM (IST)

सिरसा (सतनाम): हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर को सिरसा में देर शाम भाजपा कार्यकताओं की मीटिंग लेने पहुंचे, लेकिन उन्हें यहां किसानों के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा। किसानों ने शिक्षा मंत्री के घेराव की कोशिश की, लेकिन मौके पर तैनात पुलिस बल ने किसानों को आगे नहीं जाने दिया। आंदोलनकारी किसानों ने नारेबाजी करते हुए शिक्षा मंत्री को काले झंडे दिखाए। कड़ी मशक्कत के बाद मंत्री के काफिले को वहा निकाला गया।

PunjabKesari, haryana

शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर सिरसा में शनिवार को कार्यकर्ताओं की बैठक लेने पहुंचे थे। कार्यक्रम सुबह का प्रस्तावित था, लेकिन किसानों के विरोध के चलते कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री नहीं पहुंचे थे। वह शाम को सिरसा आए और पूर्व विधायक मक्खन सिंगला के कार्यालय में कार्यकर्ताओं से मिले। पत्रकारों से भी रूबरू हुए।

PunjabKesari, haryana

इसी बीच किसानों को शिक्षा मंत्री के कार्यक्रम की भनक लग गई। बड़ी संख्या में किसान मौके पर जुटना शुरू हो गए। जैसे ही मंत्री बाहर निकले किसानों ने विरोध में नारेबाजी शुरू कर दी। काले झंडे दिखाने लगे। पुलिस बल ने कड़ी मशक्कत के बाद किसानों को रोका। तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने जमकर नारेबाजी की।

PunjabKesari, haryana

इससे पहले पत्रकारों से रूबरू शिक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ लोग किसानों को भड़काने का काम कर रहे हैं। पंजाब हरियाणा व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ नेता अपने निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार लगातार बातचीत का दौर चलाए हुए। केंद्र सरकार के प्रतिनिधि लगातार किसानों से बातचीत का प्रयास कर रहे हैं। संवाद से ही काफी बातें हल हो सकती हैं। केवल विरोध ही हल नहीं है।

PunjabKesari, haryana

वहीं मौके पर पहुंचे किसान नेता लखविंदर सिंह ने कहा कि पिछले काफी समय से किसान कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर बैठे हैं, लेकिन कोई हल नहीं निकल रहा। वे भाजपा नेताओं से कहना चाहते है कि इस तरह से कार्यक्रम कर माहौल खराब न करे। उन्होंने ने कहा की जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नहीं होते सरकार के किसी भी कार्यक्रम को नहीं होने दिया जाएगा। 
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vinod kumar

Related News

Recommended News

static