निशुल्क पेयजल सप्लाई का हो इंतजाम : कुमारी सैलजा

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 06:47 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री, कांग्रेस कार्यसमिति की सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने कहा कि मूलभूत सुविधाओं में शामिल पेयजल सप्लाई को प्रदेश की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार अपनी आमदनी का जरिया बनाना चाहती है इसलिए पेयजल के दाम बढ़ाने की तैयारी कर ली गई है। प्रदेश सरकार को पेयजल के दाम बढ़ाने की बजाए निशुल्क सप्लाई का इंतजाम करना चाहिए, ताकि ढाई करोड़ लोगों को सीधा फायदा हो सके।

सैलजा ने कहा कि वाटर रिसोर्स अथॉरिटी ने पानी के दामों में 500 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करने का जो प्रस्ताव सरकार को भेजा है, वह सरासर गलत है। पानी लोगों के जीवन के लिए जरूरी तत्वों में से एक है। इस प्रस्ताव को सिरे से नकारते हुए भाजपा-जजपा गठबंधन को लोगों के प्रति दरियादिली दिखानी चाहिए। कुमारी सैलजा ने कहा कि इतिहास में दर्ज तथ्यों से पता चलता है कि कितने ही शासकों ने लोगों के लिए पेयजल का इंतजाम किया। उनके लिए कुएं खुदवाए और प्याऊ चलाई। इस परंपरा को आज भी हजारों लोग जिंदा रखे हुए हैं, जो लोगों की प्यास बुझाने के लिए ठंडे पानी का इंतजाम करते हैं, लेकिन इसके विपरित प्रदेश सरकार पानी बेचकर आमदनी के तरीके खोज रही है।

सैलजा ने कहा कि इस समय महंगाई चरम पर है। पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस के दामों में बेतहाशा वृद्धि का ही कमाल है, जो थोक महंगाई 15.88 फीसदी पर पहुंच गई है। लगातार रोजगार छीनने व महंगाई बढ़ने के बावजूद प्रदेश सरकार लोगों को पेयजल बेच कर मुनाफा कमाने की प्लानिंग में जुटी है। कुमारी सैलजा ने कहा कि पिछले दिनों जारी राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की रिपोर्ट बताती है कि मार्च में 7.68 प्रतिशत के मुकाबले अप्रैल में खाने-पीने की चीजों के दाम औसतन 8.38 प्रतिशत बढ़ गए। इससे साफ है कि इसका असर देश के हर आदमी पर पड़ रहा है। लेकिन, सरकार महंगाई से ध्यान हटाने के लिए इधर-उधर की हवा-हवाई बातों को ही हवा देती रहती है, जबकि धरातल पर लोगों को राहत देने से जुड़ा कोई भी काम नहीं कर रही। कुमारी सैलजा ने प्रदेश सरकार से पेयजल के दामों में 500 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करने की बजाए स्वच्छ पेयजल निशुल्क देने की मांग की।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static