प्रदेश सरकार कोरोना महामारी की हर स्थिति से निपटने के लिए तैयारः मनोहर लाल

punjabkesari.in Wednesday, Apr 27, 2022 - 04:41 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश कोरोना महामारी की हर स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। प्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया गया है, इसके साथ-साथ नए मेडिकल स्टॉफ की भर्ती प्रक्रिया भी जारी है। मुख्यमंत्री बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना महामारी को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ की गई चर्चा के दौरान बोल रहे थे।
 


मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्ग दर्शन में लगातार स्वास्थ्य सेवाओं में इजाफा किया जा रहा है। कोरोना जांच, टीकाकरण, उपचार, जारुगता व स्वास्थ्य सेवाओं का प्रबंधन पर्याप्त मात्रा में जारी है। पिछले एक सप्ताह से दिल्ली से लगते तीन जिलों में कोरोना मरीजों की संख्या में कुछ इजाफा हुआ है। बाकि प्रदेश की स्थिति की बात की जाए तो चार जिलों में शून्य मरीज हैं, जबकि बाकि बचे जिलों में मरीजों की संख्या 10 से भी कम है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में फिलहाल 1960 कोरोना पॉजिटिव केस हैं, इनमें से 1380 मरीज गुरुग्राम में, फरीदाबाद में 463 और सोनीपत में 27 केस हैं। पूरे प्रदेश में 0.5 प्रतिशत पॉजिटिविटी दर है।

हरियाणा सरकार ने प्रीकॉशन डोज को भी किया मुफ्त

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोरोना टीकाकरण अभियान के अंतर्गत हरियाणा को 4 करोड़ 25 लाख डोज प्राप्त हुई थी। इसमें से पहली डोज 100 प्रतिशत व दूसरी डोज 88 प्रतिशत लोगों को लगाई जा चुकी है। प्रीकॉशन डोज भी 43 प्रतिशत लोगों को लग चुकी है। इस डोज के लिए 18 से 59 आयु वर्ग में 250 रुपये चार्ज रखा गया था, जिसे हरियाणा सरकार ने मुफ्त करने का काम किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 से 18 आयुवर्ग के 72 प्रतिशत को पहली डोज जबकि 42 प्रतिशत को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। 12 से 14 आयुवर्ग के विद्यार्थियों का भी 30 प्रतिशत टीकाकरण किया जा चुका है। 

PunjabKesari

साढ़े 13 हजार से बढ़ाकर 20 हजार की जाएगी टेस्टिंग

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा में फिलहाल साढ़े 13 हजार कोरोना टेस्टिंग हो रही है, इसे बढ़ाकर 20 हजार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पीएम केयर और सीएसआर फंड से 94 आक्सीजन प्लॉट लगाए जा चुके हैं। प्रदेश के अस्पतालों में 58 हजार आइसोलेशन बेड और 15 हजार आक्सीजन बेड मौजूद हैं। केंद्र सरकार ने 602 करोड़ रुपये जो ईसीआरपी फंड उपलब्ध करवाया था, उसमें से 75 प्रतिशत का उपयोग किया जा चुका है। प्रदेश में 1252 मेडिकल आफिसरों की भर्ती प्रक्रिया जारी है, 787 कम्यूनिटी हैल्थ आफिसर को भर्ती कर लिया है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में बनाई गई 8 हजार मल्टी डिसिप्लनरी टीम को दोबारा एक्टिव कर दिया है।  

 

Koo App
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश के ताजा हालात की जानकारी दी और साथ ही वायरस की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से अवगत करवाया। #Haryana #DIPRHaryana #COVID19 - DPR Haryana (@diprharyana) 27 Apr 2022

कोरोना महामारी को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ 24वीं बैठक लेते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले दो सप्ताह से राज्यों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। हमें इसके लिए सावधान रहने के साथ-साथ लगातार टेस्टिंग, जीनोम सिक्वेंसिंग और कोरोना के अनुरूप व्यवहार राज्यों में लागू करने की जरुरत है, ताकि जनता में किसी तरह का भय न फैले।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तेज गर्मी में जंगल, ईमारतों व अस्पतालों में आगजनी की घटनाएं बढ़ जाती हैं। ऐसे में सभी राज्यों को सुरक्षा की दृष्टि से फायर सेफ्टी ऑडिट करवाना चाहिए और ईमारतों व अस्पतालों में आग से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने चाहिए।

मुख्यमंत्री ने दिए अस्पतालों की फायर सेफ्टी ऑडिट के आदेश

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जल्द से जल्द प्रदेशभर के अस्पतालों में फायर सेफ्टी ऑडिट करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य सचिव को इस संबंध में तत्काल बैठक कर इस पर अमल करने के निर्देश दिए। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static