सरकार चाहती है कि किसान मंडी के बजाए अडानी अंबानी को अपना गेहूं बेचे: अभय चौटाला

4/18/2021 11:06:42 PM

सिरसा (सतनाम सिंह): इनेलो प्रधान महासचिव और ऐलनाबाद के पूर्व विधायक अभय चौटाला ने एक बार फिर से हरियाणा सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार गेहूं की सरकारी खरीद को लेकर बड़े-बड़े दावे कर रही थी लेकिन सरकार के सारे दावे फेल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार नहीं चाहती कि किसान मंडियों में गेहूं की फसल न बेचे। अभय चौटाला आज सिरसा की अनाज मंडी का दौरा कर रहे थे। अभय चौटाला ने मीडिया से बातचीत करते हुए भाजपा-जजपा सरकार पर कई जवाबी हमले किए। 

हरियाणा में गेहूं की सुचारु रूप से खरीद नहीं होने को लेकर अभय चौटाला ने हरियाणा सरकार को खूब खरी खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद को लेकर सरकार ने कोई व्यवस्था नहीं की है। हर जगह अव्यवस्थाओं का आलम है। उन्होंने कहा कि वास्तव में सरकार चाहती है कि किसान मंडी में गेहूं बेचने की बजाए अडानी, अंबानी के दलालों को गेहूं बेचे। 

इस दौरान अभय चौटाला हरियाणा के सीएम मनोहर लाल पर भी खूब बरसे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के नेता कभी किसानों को उग्रवादी/आंतकवादी कहते थे लेकिन अब वे नेता बैकफुट पर चले गए हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के सीएम मनोहर लाल किसान आंदोलन में हरियाणा के किसानों के शामिल नहीं होने का दावा करते थे लेकिन अब सीएम कोरोना के नाम पर किसानों को दुहाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल किसानों से अपील करने की बजाए पीएम नरेंद्र मोदी से ही कृषि कानूनों को रद्द करने की अपील करें।

उन्होंने कहा कि केंद्र और हरियाणा सरकार फोर्र्स की मदद से किसानों के आंदोलन को खत्म करने की कोशिश कर सकती है। अगर सरकार ऐसा करती हैं तो सरकार को इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानून रद्द होने पर किसान अपने आप ही आंदोलन खत्म कर देंगे। उन्होंने हरियाणा सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार ने जल्द मंडियों में गेहूं का उठान नहीं करवाया तो आने वाले दिनों में प्रदेश की सभी मंडियों की तालाबंदी की जाएगी।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


Content Writer

Shivam

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static