ढंढूर में देर रात गिरी मकान की छत,दबने से दादी-पोती की मौत

punjabkesari.in Saturday, Jul 02, 2022 - 10:05 AM (IST)

हिसार: सिरसा रोड स्थित गांव ढंढूर में वीरवार देर रात एक मकान की छ त गिर गई। इसके नीचे दबने से रानी (39) पत्नी भीम और कुनबे में पोती लगने वाली इंदिरा (9) की मौत हो गई, जबकि भीम घायल हो गया। सदर थाना पुलिस ने इस संबंध में इत्तेफाकिया कार्रवाई की है।

सिविल अस्पताल में उपचाराधीन भीम ने बताया कि वह मजदूरी करता है और पत्नी संग ढंढूर में रहता है। घर के साथ ही उसकी बहन गुड्डी परिवार के साथ रहती है। वह पत्नी रानी और बहन गुड्डी की पोती इंदिरा उर्फ अन्नु के संग वीरवार रात को घर के आंगन में सोया था। थोड़ी देर बाद बारिश की संभावना के चलते कमरे के अंदर जाकर सो गए। रात करीब 12.30 बजे अचानक लोहे के गार्डर लगी कच्ची छत उनके ऊपर गिर गई। उसका एक हाथ व मुंह बाहर था, जबकि बाकी पूरा शरीर मिट्टी में दबा हुआ था। मुंह के अंदर भी मिट्टी गई हुई थी। उसने बताया कि काफी कोशिश के बावजूद मिट्टी के नीचे से निकल नहीं पाया। उसे पत्नी और पोती के बारे में कुछ नहीं पता था।

कूलरों के शोर में पड़ोसियों को भी नहीं लगा हादसे का पता
भीम ने बताया कि उसने काफी आवाजें लगाई, मगर कोई मदद के लिए नहीं आया। कूलरों के शोर के चलते किसी ग्रामीण को हादसे का पता ही नहीं चला। वह मदद के लिए लोगों को पुकार रहा था, मगर मुंह में मिट्टी होने के कारण तेज नहीं बोल पा रहा था। फिर उसने एक हाथ से बांस की लकड़ी उठाई और पास में पड़ी लोहे की अलमारी पर मारने लगा। करीब अढ़ाई बजे भान्जा रमेश लघुशंका के लिए जागा तो उसे शोर सुनाई दिया। 

रमेश ने परिजनों व ग्रामीणों को जगाकर डायल 112 और एबुलैंस के लिए कॉल की। ग्रामीणों ने मौके पर आकर मिट्टी हटाकर हमें बाहर निकाला। इतनी देर में पुलिस और एंबुलैंस भी मौके पर पहुंच गई। बाद में तीनों को एंबुलैंस में सिविल अस्पताल में लाया गया, जहां स्टाफ ने रानी और इंदिरा को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शुक्रवार को दोनों शवों को पोस्टमार्टम मोर्चरी में करवाया। सदर थाना पुलिस ने इस संबंध में इत्तेफाकिया कार्रवाई की है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static