रेवाड़ी की बेटी ने दिया मानवता का परिचय, लॉकडाउन में भी कायम की मिसाल

3/26/2020 10:17:02 AM

रेवाड़ी(मेहेन्द्र)- कोरोना वायरस के चलते देशभर को लॉकडाउन कर दिया गया है।  ऐसे में बेघर लोगों के सामने अब पेट की भूख मिटाने का संकट गहराने लगा है। सड़क किनारे भूखे-प्यासे बैठे लोगों का प्रशासन के अलावा कोई सहारा नही है। पिछले दो वर्षों से पर्यावरण बचाने के लिए शहर वासियों को जागरूक कर रही छात्रा नंदिनी एक बार फ़िर बेसहारा लोगों की हमदर्द बनकर सड़कों पर उतरी और इनका सहारा बनी।

कपड़े की पैकिंग कर बांटा खाना
छात्रा नंदिनी ने कोरोना वायरस के ख़तरे के चलते इन बेसहारा भूखे लोगों को भोजन खिलाकर जो साहस दिखाया है वह जनता के हमदर्द बनने का दावा करने वाले जनप्रतिनिधि भी ना कर सके। छात्रा नंदिनी ने आज भी खाना पैकिंग में कपड़े का इस्तेमाल कर पॉलिथीन का इस्तेमान ना करने का संदेश दिया है। छात्रा ने कहा कि लॉक डाउन के समय लोगों को अपने घरों में रहकर प्रधानमंत्री के आदेशों का पालन कर अच्छे नागरिक होने का परिचय देना चाहिए ताकि देश में फैल कोरोना वायरस संक्रमण से देशवासियों को महफ़ूज कर इसे ख़त्म किया जा सकें। 

कौन है नंदिनी
आपको बता दें कि रेवाड़ी के विकास नगर की रहने वाली  नंदिनी 12वीं कक्षा में पढ़ती है। नंदिनी और उसका छोटा भाई हर्ष दोनों मिलकर शहर को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए पिछले दो वर्षों से कपड़े के हजारों थैले बनाकर लोगों को निशुल्क दें चुके है। अब देखना होगा कि छात्रा द्वारा लोगों से की बंद की अपील का कितना प्रभाव पड़ेगा।
 


Isha

Related News