भीड़ देख गदगद हुए हुड्डा, पूर्व मंत्री पुत्र की थपथपाई पीठ

punjabkesari.in Monday, May 02, 2022 - 08:18 AM (IST)

फरीदाबाद : कांग्रेस की विपक्ष आपके समक्ष रैली जिले में चर्चा का विषय बनी रही। भीषण गर्मी के बावजूद पूर्व मंत्री पुत्र व कांग्रेस नेता विजय प्रताप भारी भीड़ जुटाकर यह साबित करने में सफल रहे कि फरीदाबाद में उनका मजबूत जनाधार है। इतना ही नहीं रैली में अपार भीड़ देख पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व प्रदेश अध्यक्ष उदयभान के साथ-साथ सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने विजय प्रताप की तारीफ में जमकर कसीदे पढ़े और मंच से ही उनकी पीठ थपथपाई।

बेशक, रैली पूरे जिले की बताई जा रही थी लेकिन रैली पूर्णत :
विजयप्रताप के इर्द-गिर्द घूमती दिखाई दी। कांग्रेस के कई विधायकों के साथ-साथ पूर्व विधायक व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रैली में मौजूद रहे। एक लंबे समय के बाद गर्मी के मौसम में कांग्रेस की रैली को संदेह की  नजरों से देखा जा रहा था। माना जा रहा था कि कांग्रेस की यह रैली फ्लॉप शो साबित होगी। धड़ों में बंटी कांग्रेस का नुक्सान इस रैली को होगा, यह कांग्रेस के नेता भी मान रहे थे। पूर्व मंत्री महेंद्रप्रताप के पुत्र विजय प्रताप को इस रैली का आयोजक बनाया गया था। विजयप्रताप शायद राजनीतिक अनुभव के कारण यह जानते थे कि रैली को केवल और केवल उनके अपने कार्यकत्र्ता ही सफल कर सकते हैं। इसलिए वे कांग्रेस के अन्य नेताओं की भीड़ के भरोसे नहीं रहे और अपने समर्थकों से ही पंडाल को भर डाला। 

मंचासीन नेता कांग्रेस रैली में उमड़े इस जनसैलाब को देख गदगद नजर आ रहे थे। इतना ही नहीं कांग्रेस नेता भूपेंद्र हुड्डा ने तो रैली में भीड़ देख यहां तक कह डाला कि यह भीड़ हरियाणा में राजनीतिक बदलाव की शुरुआत का संकेत है। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस की लहर अब कम नहीं होगी बल्कि लगातार बढ़ेगी। 

मिल सकती है जिलाध्यक्ष की कमान :
पिछले लंबे समय से कांग्रेस प्रदेश में अपने जिलाध्यक्ष नियुक्त नहीं कर पाई है। इसके पीछे प्रमुख कारण कांग्रेस की गुटबाजी रहा है। पहले अशोक तंवर और उसके बाद कुमारी सैलजा दोनों की ही पटरी भूपेंद्र हुड्डा के साथ नहीं बैठी। जिसके कारण पैदा हुई खींचतान जिलाध्यक्षों की नियुक्तियों में अवरोधक बनती रही। अब हाईकमान ने भूपेंद्र सिंह हुड्डा की पसंद से प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति उदयभान के रूप में कर दी है। इसलिए जिलाध्यक्षों की नियुक्तियां भी बहुत जल्द होने की पूरी उम्मीद है। आज की कांग्रेस रैली के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा रही कि विजयप्रताप को कांग्रेस के जिलाध्यक्ष की जिम्मेवारी मिल सकती है। वे जहां कई बार मंत्री रहे महेंद्रप्रताप के पुत्र हैं वहीं पिछला विधानसभा चुनाव चंद वोटों से ही हारे थे तथा उनके साथ कार्यकत्र्ताओं व समर्थकों की एक बहुत बड़ी व मजबूत टीम है क्योंकि अपने पिता व पूर्व मंत्री महेंद्रप्रताप का चुनाव प्रबंधन विजयप्रताप के इर्द-गिर्द ही घूमता था।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static