कोरोना की भयावह स्थिति: 7 दिन 5 हजार पॉजिटिव और 92 की मौत

5/15/2021 9:30:25 PM

रेवाड़ी/महेंद्रगढ़ (योगेंद्र सिंह): दक्षिण हरियाणा के छोटे शहरों व गांवों के कोरोना आंकड़े डराने वाले हैं] हालांकि अब कोरोना ने शहरी एरिया छोड़कर अपना रूख गांव की ओर कर लिया है। यही कारण है कि इन दोनों जिले के आंकड़ो ने प्रशासन ही नहीं सरकार की भी नींद उड़ा दी है। पिछले एक सप्ताह की बात करें तो इन दोनों जिलों में पांच हजार से अधिक लोग संक्रमण की चपेट में आए तो 90 से अधिक लोग कोरोना से जंग भी हार गए।

रेवाड़ी में अब संक्रमण की संख्या कम हो गई है लेकिन मरने वालों का आंकड़ा चिंता का विषय बना हुआ है। दूसरी ओर महेंद्रगढ़ के हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। प्रशासन व स्वास्थ्य अमले के प्रयास अब इस एरिये के लिए नाकाफी साबित हो रहे हैं। यहां पर राजनीतिक लोगों की निष्क्रियता भी कोरोना को हवा दे रही है। यदि अभी भी राजनीतिक लोग घरों से बाहर निकल आएं तो वह ग्रामीण क्षेत्र में जागरूकता के दम पर ही कोरोना की चेन तोड़ सकते हैं।



हम आंकड़ों के आधार पर यदि रेवाड़ी-महेंद्रगढ़ जिले की तुलना करें तो यह साफ पता चल रहा है कि रेवाड़ी तेजी से पटरी पर आ रहा है। हालांकि यहां हो रही मौत अवश्य अभी चिंता का विषय बनी हुई हैं। हालांकि प्रशासन ने संक्रमण के आंकड़ों पर काबू पा लिया है और यह सब हुआ कोरोना की चैन तोडऩे से। दूसरी ओर महेंद्रगढ़ में पिछले एक पखवाड़े से हालात लगातार बेकाबू हो रहे हैं। महेंद्रगढ़ के आंकड़ें देखकर साफ लग रहा है कि यहां पर प्रशासन अभी तक पूरी तरह फेल साबित हुआ है। 
रेवाड़ी में सात दिन में 1241 लोग संक्रमण की चपेट में आए। वहीं 40 लोगों की मौत हुई। जबकि इसके पहले यहां के आंकड़े भी डराने वाले थे।

वहीं दूसरी ओर महेंद्रगढ़ में सात दिन में 4064 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आकर संक्रमित हुए। 52 लोग कोरोना की जंग हार कर मौत के मुंह में चले गए। इसी समयावधि में कोरोना ने अपना रूख शहर के बजाए छोटे-छोटे गांव की ओर कर लिया है। अब गांव में लगातार यह विकराल रूप अख्तियार करते जा रहा है। गांव के लोग अभी भी कोरोना को लेकर गंभीर नहीं हैं और गाइड लाइन का पालन भी नहीं कर रहे हैं। लॉकडाउन में भी वह घरों के अंदर रहने को तैयार नहीं हैं और संभवत : इसी के चलते अब गांव में कोरोना लगातार विकराल रूप धारण करते जा रहा है।



महेंद्रगढ़ को रेवाड़ी से सीख लेने की जरूरत
जिस प्रकार से रेवाड़ी प्रशासन शहरी एरिया में कोरोना की चेन तोडऩे में सफल हुआ उसी तर्ज पर महेंद्रगढ़ को भी काम करना होगा। रेवाड़ी में राजनीतिक लोग धरातल पर काम कर रहे हैं वहीं महेंद्रगढ़ में राजनीतिक लोग, मंत्री, विधायक सभी अपने घरों में रहकर दूरभाष पर ही हर काम कर रहे हैं। हालांकि प्रेसनोट के माध्यम से वह अपनी पीठ अवश्य थपथपाते नजर आ रहे हैं। जबकि राजनीतिक लोग यदि अपने-अपने एरिये में निकलकर लोगों को जागरूक करें तो उनकी बात लोग सुनेंगे और मानेंगे। यदि ऐसा हुआ तो कोरोना की चैन तोडऩे में  निश्चित रूप से सफलता मिलेगी।

यह कदम उठाना जरूरी
ग्रामीण क्षेत्र में सख्त कदम उठाना जरूरी, पर्याप्त पुलिस बल व प्रशासनिक अधिकारियों को ग्रामीण एरियों में पेट्रोलिंग करना चाहिए, हाट स्पाट गांव में आइसोलेशन सेंटर बनाएं जाएं, गांव के सरपंच, पूर्व सरपंच, विधायक, ग्राम सचिव व स्थानीय लोगों को अपने साथ लेकर उनके साथ गांव वाइज लिस्ट बनाकर बीमार या जरा से लक्षण आते ही ग्रामीणों को आइसोलेशन सेंटर में रखना होगा। ठीकरी पहरा लगाना होगा। आवाजाही बंद करवाना होगी। लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाना होगा। ग्रामीण लोगों को नियमित चैकअप के साथ ही गांव का सर्वे जरूरी है। गांव में सेनेटाइजिंग का काम युद्धस्तर पर करना होगा। यहां पर टेस्टिंग के साथ ही टीकाकरण अभियान को गति देनी होगी।



दिन प्रतिदिन संक्रमित एवं मौत के आंकड़े पर एक नजर
8 मई - रेवाड़ी  256 संक्रमित , कोई मौत नहीं, महेंद्रगढ़ 778 संक्रमित और 9 की मौत
9 मई - रेवाड़ी 132 संक्रमित और 7 की मौत, महेंद्रगढ़ 562 संक्रमित और 5 की मौत
10 मई -रेवाडी 173 संक्रमित एवं 10, महेंद्रगढ़ 589 संक्रमित और 7 की मौत
11 मई -रेवाड़ी 170 संक्रमित, कोई मौत नहीं, महेंद्रगढ़ 568 संक्रमित एवं 7 की मौत
12 मई - रेवाड़ी  में 155 संक्रमित एवं 11 की मौत, महेंद्रगढ़ 447 संक्रमित एवं 7 की मौत
13 मई - रेवाड़ी 180 संक्रमित एवं 12 की मौत, महेंद्रगढ़ 560 संक्रमित और 12 की मौत
14 मई - रेवाड़ी  175 संक्रमित, कोई मौत नहीं, महेंद्रगढ़ 560 संक्रमित और 5 की मौत

कोरोना जंग जीतकर ही रहेंगे-डीसी
रेवाड़ी डीसी यशेंद्र सिंह कहते हैं कि हमारी टीम 24/7काम कर रही है। शहरी एरिया में हमने कोरोना चैन तोड़ दी है और जल्द ही गांव में भी स्थिति पर काबू पा लेंगे। जनता का भी सहयोग मिल रहा है और अब हॉस्पिटल में सामान्य स्थिति है और ऑक्सीजन को लेकर भी कोई मारामारी नहीं है। जल्द ही सब कुछ सामान्य हो जाएगा। वहीं महेंद्रगढ़ सीएमओ डा. अशोक कुमार का कहना है कि गांव में लगातार सर्वे, सेनेटाइजर, टेस्टिंग, टीकाकरण कार्य चल रहा है। गांव के लोगों को अवश्य जागरूकता का परिचय देना चाहिए तभी गांव के हालात सामान्य होंगे। हमारी टीम बेहतर काम कर रही है और जल्द ही कोरोना जंग जीतेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static