मौजूदा सरकार में नये स्कूल खोलने की बजाय पुराने स्कूल भी बंद किये गए– दीपेन्द्र हुड्डा

punjabkesari.in Wednesday, Apr 20, 2022 - 09:20 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने आज कहा कि 8 साल में BJP-JJP ने हरियाणा का शिक्षा तंत्र बर्बाद कर दिया है। उन्होंने कहा कि हुड्डा सरकार ने हरियाणा को शिक्षा का हब बनाने के लिए 27 नये विश्वविद्यालय व सैकड़ों स्कूल-कॉलेज बनाने के साथ-साथ अकेले शिक्षा महकमे में रिकॉर्ड 1 लाख से ज्यादा भर्ती करी थी। जिसमें JBT, PGT से लेकर लेक्चरर, प्रोफेसर, गेस्ट टीचर, कंप्यूटर टीचर शामिल हैं। लेकिन हरियाणा का शिक्षा विभाग अध्यापकों की भारी कमी से जूझ रहा है। अकेले शिक्षा विभाग में 40,000 से ज्यादा पद खाली पड़े हुए हैं। उन्होंने आगे कहा कि हुड्डा सरकार ने शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए मॉडल स्कूल, किसान मॉडल स्कूल, आरोही मॉडल स्कूल बनाए थे। लेकिन, मौजूदा सरकार ने कोई नया स्कूल खोलने के बजाय सैकड़ों सरकारी स्कूलों पर ताला लगा दिया और मॉडल स्कूलों का बंटाधार कर दिया।

उन्होंने कलानौर के जर्जर और बदहाल हो चुके कन्या विद्यालय का उदाहरण देते हुए कहा कि बेटी पढ़ाओ का नारा लगाने वाली भाजपा सरकार ने बेटियों के स्कूल की भी दुर्दशा कर दी है। स्कूल परिसर में आवारा पशु घूम रहे हैं, भारी मात्रा में मलबा, कचरा पड़ा हुआ है, स्कूल की दीवारें टूटी हुई हैं। शहर के बीचों बीच मौजूद यह गर्ल्स स्कूल 5 गांव की लड़कियों के लिये अकेला स्कूल था और इसका एक समय काफी नाम था। लेकिन सरकार के नकारेपन के चलते पिछले कई वर्षों से कलानौर का राजकीय कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय खंडहर पड़ा हुआ है। स्कूल का भवन शराबियों, जुआरियों, नशेड़ियों का अड्डा बन चुका है। यहां छात्राओं को पढ़ाने की बजाय पशु बांधे जा रहे हैं। इसकी बदहाली को लेकर लगातार विधानसभा में आवाज़ उठाई गई, लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। हालत इस कदर खराब हैं कि तीन साल से बजट मंजूर हुआ पड़ा है लेकिन बार-बार आश्वासन के बावजूद काम नहीं हो रहा है।

दीपेन्द्र हुड्डा ने एक खबर का हवाला देते हुए बताया कि हरियाणा के 63 स्कूलों में एक भी शिक्षक नहीं है। 40 स्कूल एक शिक्षक के सहारे चल रहे हैं। नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने के बावजूद स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती नहीं की गई है, जिससे बच्चे दाखिला नहीं ले पा रहे हैं। शिक्षकों की कमी व सरकार के उलजलूल निर्देशों से स्कूलों में नामांकन बढ़ने के बजाय कम हो रहे हैं। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि पीजीटी अध्यापक परीक्षार्थी भर्ती के लिये तो एक्सटेंशन लेक्चरर्स रोज़गार सुरक्षा के लिये संघर्ष को मजबूर हैं। हरियाणा में रिकॉर्ड बेरोज़गारी के बीच BJP-JJP सरकार में नौकरी मिलना तो दूर नौकरी जाने का खतरा हर किसी को सता रहा है। उन्होंने आगे कहा कि इस सरकार में एक भी परीक्षा बेदाग़ और समय पर नहीं हुई। एक भी परीक्षा ऐसी नहीं हुई जिसका पेपर लीक न हुआ हो। सरकार के इन्हीं कारनामों के चलते प्रदेश के युवाओं का भविष्य बर्बाद हो रहा है।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static