यहां आम आदमी की FIR दर्ज की जाती है और IAS अधिकारी की दर्ज ना हो ऐसा नहीं हो सकता है-अनिल विज

punjabkesari.in Tuesday, Apr 26, 2022 - 08:45 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा के गृह व् स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज दोस्तों के दोस्त है,यह बात किसी से छुपी नहीं है। उनके किसी भी मित्र पर जब भी कोई मुसीबत आई तो अनिल विज सदैव आगे खड़े नजर आए।  चर्चित आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के खिलाफ जब भी वातावरण किन्हीं परिस्थितियों में बना तब-तब अनिल विज उनके लिए दीवार बन कर खड़े हुए। हरियाणा के गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज दर्जनों ऐसे मौके आए जब अशोक खेमका के लिए संकटमोचक बनकर उभरे हैं। मनोहर लाल खट्टर व भाजपा की सरकार में पार्ट वन के दौरान अशोक खेमका अनिल विज से संबंधित विभागों में तैनात रहे। अनिल विज ने अशोक खेमका की एसीआर में अपनी मर्जी मुताबिक नंबर दिए वह मामला भी काफी चर्चा में रहा।

खेमका के हक में हरियाणा राज भवन धरना देने पहुंचे थे विज

15 अक्तूबर 2012 को जब भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता अनिल विज ने हरियाणा के आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के तबादले के मुद्दे पर हरियाणा राजभवन के सामने धरना दिया था । उन्होंने तब कहा था कि भूमि घोटाले को उजागर करने वाले आईएएस अशोक खेमका को वापस उनके पद पर नियुक्त किया जाए और इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए। इस मौके पर अनिल विज ने कहा कि हरियाणा में जंगलराज कायम है। उन्होंने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार की सीमाएं तोड़ दी हैं और सरकार के घपलों को उजागर करने वाले अधिकारियों का तबादला कर दिया जाता है।

PunjabKesari

विज ने राजभवन पर देर शाम तक धरना देकर कहा था ,कि राज्य में ईमानदार अधिकारी इस समय भय के माहौल में काम करने को मजबूर हैं। उन्होंने खेमका को दोबारा से चकबंदी विभाग में नियुक्त किए जाने, गुडग़ांव में पंचायती जमीन की बंदरबांट करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की थी । भाजपा नेता ने राज्यपाल से हरियाणा की बिगड़ती स्थिति में तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए प्रदेश सरकार को राज्यव्यापी आंदोलन की धमकी दी। धरना के दौरान विज ने राज्यपाल जगन्नाथ पहाडिय़ा के नाम एक ज्ञापन सौंपकर खेमका को वापस चकबंदी विभाग में महानिदेशक लगाए जाने की मांग की थी ।

मंगलवार 25 अप्रैल को क्या हुआ ?

हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के एमडी के खिलाफ हरियाणा के चर्चित आईएएस अधिकारी अशोक खेमका द्वारा एक शिकायत पंचकूला पुलिस को दी गई थी। जिस पर मामला दर्ज न किए जाने के बाद आज हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री अनिल विज अशोक खेमका के साथ पंचकूला डीसीपी कार्यालय में पहुंचे और इस मामले में पंचकूला के डीसीपी मोहित हांडा को शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं।  हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के एमडी संजीव वर्मा द्वारा कुछ दिन पहले आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के खिलाफ पंचकूला पुलिस को एक शिकायत देकर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे इसके बाद हरियाणा के चर्चित आईएएस ऑफिसर अशोक खेमका द्वारा हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के एमडी संजीव वर्मा के खिलाफ भी पंचकूला पुलिस के डीसीपी मोहित हांडा को एक शिकायत दर्ज करवाई है जिसके बाद दोनों आईएएस अधिकारियों के बीच शिकायतों का दौर शुरू हो चुका है

हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के एमडी संजीव वर्मा द्वारा पंचकूला पुलिस को एक शिकायत देते हुए आरोप लगाया था कि वर्ष 2010 में हरियाणा के आईएएस अधिकारी अशोक खेमका द्वारा हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के एमडी के पद पर रहते हुए प्रथम श्रेणी के दो अधिकारियों को गलत ढंग से पैसे लेकर नियुक्ति की गई है और यह दोनों अधिकारी मैनेजर रैंक के हैं। जिसके बाद हरियाणा के चर्चित आईएएस अधिकारी अशोक खेमका द्वारा हरियाणा वेयरहाउस कॉरपोरेशन के मौजूदा एमडी संजीव वर्मा के खिलाफ भी एक शिकायत पंचकूला पुलिस को दी है। 2 दिन पहले दी शिकायत में कार्रवाई ना होने के बाद अशोक खेमका द्वारा इसकी जानकारी हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज को दी गई और आज हरियाणा के गृह मंत्री अशोक खेमका के साथ पंचकूला डीसीपी कार्यालय पहुंचे और कहा कि जो अशोक खेमका ने शिकायत दर्ज करवाई है उस पर मामला दर्ज किया जाए। उन्होंने कहा कि अशोक खेमका का मुझे संदेश आया था कि मैंने एक शिकायत दर्ज करवाई है और उस पर मामला दर्ज नहीं किया जा रहा। अनिल विज ने कहा कि यहां आम आदमी की एफ आई आर दर्ज की जाती है और आईएएस अधिकारी की एफ आई आर दर्ज ना हो ऐसा नहीं हो सकता है। देर शाम तक पंचकूला पुलिस अशोक खेमका की शिकायत पर मुकद्दमा दर्ज करने में जुटी है। मुकद्दमा दर्ज किया जा रहा है।

PunjabKesari

विज ने खेमका की ए.सी.आर. में दिए शत-प्रतिशत नंबर

विज और खेमका के बीच दोस्ती का ही असर कहेंगे कि जब खेमका विज के खेल विभाग में प्रधान सचिव के पद पर तैनात थे तो विज ने उनकी ए.सी.आर. में मार्च 2019 में उन्हें शत-प्रतिशत नंबर दिए थे, जबकि मुख्यमंत्री ने उसे कम कर दिया था।

भाजपा की सरकार में 15 मार्च 2019 को हरियाणा के चर्चित आई.ए.एस. अधिकारी अशोक खेमका को एक बार फिर गृह मंत्री अनिल विज का साथ मिला था । खेमका द्वारा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की इजाजत मांगने के सवाल पर विज ने कहा कि खेमका ईमानदार अफसर हैं और उनकी सुनवाई होनी चाहिए। विज ने साथ में यह भी कहा कि मुख्यमंत्री भी ईमानदार हैं और उन्हें आशा है कि खेमका के पत्र का जवाब जल्द ही उनकी ओर से दिया जाएगा।

विज ने मंत्री बनने पर खेमका को दिया मौका

भाजपा सरकार में मंत्री बनने के बाद भी अनिल विज ने अशोक खेमका को मौका दिया और उनके पास खेल और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी महकमे में लंबे समय तक तैनात रहे।


 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static