आगामी सत्र से सामाजिक कार्य में डिग्री पाठ्यक्रम शुरू कर रहा है जे.सी. बोस विश्वविद्यालय

2021-06-12T20:26:44.597

चण्डीगढ़ (धरणी): सामाजिक कल्याण क्षेत्र के लिए कुशल कार्यकर्ताओं की जरूरत को पूरा करने के लिए जे.सी. बोस विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आगामी शैक्षणिक सत्र से सामाजिक कार्य में स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने इस आशय की जानकारी देते हुए बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा सामाजिक कार्य में तीन वर्षीय स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम 45 सीटों के साथ शुरू किया जा रहा है। पाठ्यक्रम में बुनियादी विषयों के अलावा डेटा साइंस जैसी नवीनतम कंप्यूटिंग तकनीकों की शामिल किया गया है, जिसकी उपयोगिता निरंतर बढ़ रही है।

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के प्रावधानों के अनुरूप लिबरल आट्र्स पाठ्यक्रमों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। लिबरल आर्ट्स पाठ्यक्रम विद्यार्थियों को जीवन के वास्तविक कौशल प्रदान करते हैं, जिसमें गहन सोच, संचार, समस्याओं के रचनात्मक समाधान, आत्म-अभिव्यक्ति, अभिनव अनुसंधान और आजीवन सीखने जैसे कौशल शामिल हैं। यह विद्यार्थी के लिए अच्छे कैरियर के विकल्प प्रदान करता है। विश्वविद्यालय समय-समय पर विद्यार्थियों में सामाजिक सरोकार की भावना को प्रेरित करने के लिए विभिन्न पहल करता रहा है और अब सामाजिक कार्य को लेकर पाठ्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया गया है।
उन्होंने कहा कि विश्वभर में विभिन्न प्रकार की विषम समस्याओं के समाधान में सामाजिक कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका होती है, इसलिए इस क्षेत्र में कैरियर की प्रबल संभावनाएं है। लिबरल आर्ट्स एवं मीडिया स्टडीज संकाय के अंतर्गत विश्वविद्यालय पत्रकारिता एवं जनसंचार में बीए और एमए, अंग्रेजी में एमए और मल्टीमीडिया एवं एनिमेशन में बीएससी जैसे पाठ्यक्रम पहले से ही चला रहा है।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static