''लखबीर हत्याकांड सरकार की साजिश'', निहंग सरदार की वायरल फोटो पर किसान मोर्चा ने दिया बयान

10/19/2021 11:02:00 PM

सोनीपत (पवन राठी): जैसे ही सोनीपत से कुंडली बॉर्डर पर लखबीर सिंह नाम के एक शख्स की हत्या का मामला सामने आया तो आंदोलन के साथ-साथ संयुक्त किसान मोर्चा पर भी पूरे देश में सवालिया निशान उठने लगे और किसान नेता मीडिया से दूरी बनाते हुए नजर आए। वहीं लखबीर सिंह हत्याकांड की जिम्मेदारी लेने वाले निहंग सरदार अमन सिंह की फोटो केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो संयुक्त किसान मोर्चा के बड़े-बड़े नेता दर्शन पाल सिंह, युद्धवीर सिंह और अभिमन्यु कोहाड़ के बयान भी सामने आए हैं।

तीनों नेताओं ने एक सुर में कहा कि लखबीर सिंह हत्याकांड सरकार या किसी एजेंसी की किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश है और इस पूरी घटनाक्रम की जांच गंभीर जांच करने वाली एजेंसी से होनी चाहिए जो कि सरकार का दबाव ना मानती हो। किसान नेता दर्शन पाल सिंह युद्धवीर सिंह और अभिमन्यु कोहाड़ ने कहा कि लखीमपुर खीरी में जो घटना हुई हमारे देश के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने जो 25 सितंबर को बयान दिया वह 3 तारीख की घटना का बेस बना, जिसमें हमारे 4 किसान साथी और एक पत्रकार साथी की मौत हुई।

उन्होंने कहा कि अभी कुंडली बॉर्डर पर एक घटना घट गई है इसमें पंजाब के तरनतारन के रहने वाले एक सिख युवक लखबीर की बेरहमी से हत्या कर दी गई। इस घटना से लखीमपुर खीरी का घटनाक्रम बैकफुट पर चला गया है, जो उसकी शार्पनेस थी वो खत्म हो गई है, लेकिन दो-चार दिन ही घटनाएं होती हैं और सुलझ जाती हैं। एक बार फिर संयुक्त किसान मोर्चा अपने मुद्दों को लेकर आगे बढ़ेगा, इसको लेकर 21 अक्टूबर को हमारी एक बड़ी मीटिंग होने जा रही है कल हम रेल रोको अभियान करके हटे हैं और 26 अक्टूबर को हमारी 11 महीने पूरे होने जा रहे हैं। 

किसान नेताओं ने कहा कि लखबीर हत्याकांड में कोई बड़ी साजिश है। इस साजिश में लखबीर सिंह बलि का बकरा बन गया, इस पूरे मामले को किसी सीरियस एजेंसी को सौंपना चाहिए चाहे वह पंजाब सरकार की हो या फिर केंद्र सरकार की ताकि इस पूरे मामले में दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। इस मामले को लेकर किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश है और आंदोलन को तोडऩे के लिए किसी फोर्स या एजेंसी ने इस तरह का कदम उठाया है। 

अमन सिंह के फोटो पर किसान नेताओं ने कहा कि इस फोटो में क्लियर है कि सरकार किसान आंदोलन और संयुक्त किसान मोर्चा को तोडऩे के लिए एजेंडा चला रही है। किसान नेता युद्धवीर सिंह ने भी कहा कि फोटो सामने आने के बाद यह स्पष्ट है कि यह है किसान आंदोलन को तोडऩे की बड़ी साजिश है और सरकार ने ही यह हत्याकांड करवाया है। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा आंदोलन को और भी तेज करने के लिए रणनीति बना रहा है और हम पीछे हटने वाले नहीं हैं।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static