पत्नी की गला दबाकर कर दी हत्या और बनाया बीमारी से मौत का बहाना, पुलिस ने किया गिरफ्तार

punjabkesari.in Monday, Feb 26, 2024 - 05:47 PM (IST)

गुड़गांव, (ब्यूरो): सेक्टर-53 थाना एरिया में महिला की उसके पति द्वारा गला दबाकर हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। आरोपी ने पुलिस को और मृतक के मायके वालों को गुमराह करने के लिए बीमारी से मौत होने का बहाना बनाया। महिला की मौत के करीब दो सप्ताह बाद जब पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त हुई और उसमें महिला की हत्या किए जाने की पुष्टि हुई तो पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को आज अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

गुड़गांव की खबरों के लिए इस लिंक https://www.facebook.com/KesariGurugram पर क्लिक करें।

 

सेक्टर-53 थाना प्रभारी ने बताया कि मूल रूप से नेपाल के रहने वाले टेक सिंह ने बताया कि वह वर्तमान में जोधपुर राजस्थान में रहते हैं। उनकी चचेरी बहन शांति बाेगटी की शादी नेपाल के ही रहने वाले तपराज जोशी से हुई थी। जो गुड़गांव के सेक्टर-53 थाना एरिया में रहते थे। 15 फरवरी को उन्हें सूचना मिली कि शांति बाेगटी की तबीयत काफी ज्यादा खराब है जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में जब अस्पताल से पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मामले में पुलिस ने जब पति से पूछताछ की तो उसने बीमारी के कारण अपनी पत्नी की मौत होने की बात कही। मामले में परिजनों ने पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी थी जिसके बाद पुलिस ने मामले में सीआरपीसी 174 के तहत कार्रवाई की थी।

 

अब पुलिस को जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शांति बोगटी की गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हो गई। जिसके बाद पुलिस ने एक बार फिर पति तपराज जोशी से पूछताछ की तो भी उसने बीमारी से मौत होने की बात कही, लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने गला दबाकर हत्या किए जाने की बात कबूली। पूछताछ में सामने आया कि तपराज का अपनी पत्नी शांति बाेगटी के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। दोनों में विवाद इतना बढ़ गया था कि गुस्से में आकर तपराज ने अपनी पत्नी का गला दबा दिया जिससे उसकी मौत हो गई। उसने बचने के लिए बीमारी के कारण मौत होने का बहाना बनाया, लेकिन पोस्टमार्टम में मौत के कारणों का खुलासा हो गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Pawan Kumar Sethi

Recommended News

Related News

static