मां ने चंद रुपयों के लालच में अपनी नाबालिग बेटी को बेचा, ऐसे किया गया रेस्क्यू

9/22/2020 11:49:06 PM

यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय): चंद रुपयों के लालच में अपनी ही नाबालिग बेटी को उसकी मां द्वारा बेचने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार यमुनानगर के पुराना हमीदा की एक महिला ने अपनी नाबालिग बेटी को 56 हजार में शादी के लिए रोहतक के गांव धामड़ में बेच दिया। मामला चाइल्ड लाइन रोहतक के पास पहुंचा, तो नाबलिग को रेस्क्यू किया गया और बाल कल्याण समिति की चेयरमैन की शिकायत पर रोहतक सदर में केस दर्ज कराया गया है। 

घटना यमुनानगर की है, इसलिए केस को यमुनानगर ट्रांसफर किया गया है। थाना शहर पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। सएचओ सिटी मनोज कुमार का कहना है कि इस मामले में जिसकी भी संलिप्तता सामने आएगी उस पर कार्रवाई की जाएगी। अभी गहनता से पूरे मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, नाबलिग को रोहतक के गांव धामड़ के झासू ने उसकी मां से खरीदा और उसकी शादी गांव के ही 40 वर्षीय व्यक्ति से करवा दी। नाबालिग ने चाइल्ड लाइन को इस बारे में किसी तरह से सूचना दी, तो वहां से मामला बाल कल्याण समिति रोहतक के पास पहुंचा। टीम गांव में पहुंची और जांच की, तो पता लगा कि इसको खरीदकर लाया गया है। उसके साथ 12 वर्षीय एक अन्य बच्ची को भी लाया गया। टीम ने किशोरियों को रेस्क्यू कर रोहतक के बाल आश्रम में छुड़वाया।

बाल कल्याण समिति ने जब दोनों की काउंसलिंग की, तो उसने बताया कि विक्रम अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ यमुनानगर में आया था। यहाँ पर दोनो के घरवालों को 56 हजार रुपए दिए जिसके बाद नाबालिग की सहेली की 12 वर्षीय बहन के साथ रोहतक भेज दिया गया और यहाँ उसकी शादी करवा दी गई।

वहीं इस मामले में एसएचओ सिटी यमुनानगर मनोज कुमार ने बताया कि हमारे पास थाना सदर रोहतक से जीरो एफआईआर हमारे पास आई। जिसके अनुसार 8 सितंबर को हमीदा की एक नाबालिग लड़की को उसकी मां ने तीन चार अन्य लोगों के साथ मिलकर रोहतक के धामड गांव में 40 साल के व्यक्ति के साथ उसकी शादी करवा दी। उसके साथ एक 12 साल की बच्ची भी चली गई। इन्होंने चाइल्ड हेल्प लाइन पर संपर्क किया। जिस पर तुरंत रोहतक पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इन्हें रेस्क्यू किया। फिलहाल इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। और जांच के बाद ही पूरी सच्चाई सामने आ पाएगी।


Shivam

Related News