एम.ओ.यू. साइन होने के बाद विधानसभा की डिजिटलाइजेशन प्रक्रिया शुरू होगी : ज्ञानचन्द गुप्ता

10/19/2020 8:55:01 AM

चंडीगढ़ (चन्द्रशेखर धरणी) : हरियाणा विधानसभा में आए दिन नए बदलाव देखने को मिल रहे हैैं। जिसका श्रेय विधानसभा स्पीकर ज्ञानचन्द गुप्ता का कहना है कि पार्लियामेंट्री अफेयर्स मिनिस्ट्री से एम.ओ.यू. साइन होंगे। उसके बाद डिजिटाइजेशन प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने एक ओर जंहा हरियाणा विधानसभा को गीतामयी करने का काम किया है वहीं दूसरी ओर विधानसभा को हाईटैक करने का भी बीडा उठाया है। साथ ही विधानसभा सेशन के दौरान परिसर में होने वाले प्रदर्शनों पर भी रोक लगाने का काम विधानसभा स्पीकर ज्ञानचन्द गुप्ता ने किया है।

गुप्ता ने कहा है कि मुख्यमंत्री महोदय  ने सैशन को लेकर इच्छा व्यक्त कर दी है जिस प्रकार से पिछली बार तैयारियां की गई थी। उसी प्रकार ही इस बार भी इंतजाम किए जाएंगे। गुप्ता ने कहा कि पंजाब से 13 %हिस्से को लेकर विधानसभा सत्र में आ सकता है मामला, हमें बैठने के लिए व्यवस्था चाहिए, स्पेस चाहिए |

ज्ञानचन्द गुप्ता का कहना है कि केन्द्रीय पार्लियामेंट्री अफेयर्स मिनिस्ट्री के साथ हमारा एम.ओ.यू. होने जा रहा है। अभी प्री-कंडीशन थी कि दो कमेटियां जिनमें विधायकों की समिति जिसका अध्यक्ष में हूं और दूसरी अधिकारियों की कमेटी जिनके अध्यक्ष विधानसभा के सेक्रेटरी हैं उनके साथ पार्लियामेंट्री अफेयर्स मिनिस्ट्री से एम.ओ.यू. साइन होंगे। उसके बाद डिजिटाइजेशन प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।ज्ञानचन्द गुप्ता का कहना है की  पहले प्रश्न लिखकर भेजे जाते थे। हमने इ.मेल या आनलाईन के दूसरे माध्यमों से प्रशन भेजने के लिए बोला था। ताकि पेपर खराब ना हों। जो प्रशन आए हमने उनके रिप्लाई भी दिए। आगे फिर शुरू हुई है मुझे लगता है कि जल्दी परिणाम देखने को मिलेंगे।

गुप्ता का कहना है कि गीता हमारी संस्कृति है, हमारी पहचान है, हमारे हरियाणा का गौरव है, श्री कृष्ण ने अर्जुन को हरियाणा की धरती पर कुरुक्षेत्र में उपदेश दिया। क्योंकि यह उपदेश महाभारत का सबसे बड़ा पार्ट था जो हरियाणा की धरती पर हुआ। हम अपने इतिहास से जुड़े रहें इसलिए यह कदम उठाया गया। अगर कोई व्यक्ति बाहर से आए तो उसे हमारी पहचान नजर आनी चाहिए।

पंचकूला में एम्स के मुकाबले आयुर्वेदिक कॉलेज संस्थान बनाने का प्रोविजन पर ज्ञानचन्द गुप्ता का कहना है की  सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद डिफेंस मिनिस्ट्री और चण्डी मंदिर ने एरिया की हाइट को लेकर शंका जाहिर की थी और ऑब्जेक्शन लगा दिया था। बीच की सारी रुकावटें दूर हो गई हैं। अब उसके ऊपर कंस्ट्रक्शन का काम जल्द शुरू होने वाला है।

ज्ञानचन्द गुप्ता का कहना है कि पंजाब से हरियाणा का 13 प्रतिशत हिस्सा लेने की बात अपनी तरफ से हमने एक प्रयास किया था। अब आने वाले समय में और अच्छे ढंग से अपनी बात को मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स के सामने रखेंगे। चंडीगढ़ के प्रशासक को भी पहले हमने बात की थी। दोबारा और भी कोई रास्ता चुनना पड़ता है तो भी हम विधायकों की राय से इस बात को आगे बढ़ाएंगे।

गुप्ता का कहना है कि विधानसभा में पंजाब के कब्जे में 13 प्रतिशत हरियाणा के हिस्से का मामला विधानसभा सत्र में बिल्कुल रखा जा सकता है। क्योंकि यह मामला अकेले स्पीकर का या अकेले किसी राजनीतिक पार्टी का नहीं है। यह विधानसभा का मामला है। हमें बैठने के लिए व्यवस्था चाहिए, स्पेस चाहिए। लीडर ऑफ द अपोजिशन के लिए कमरा चाहिए। यह स्थान सभी के लिए होगा। विधायक चाहे विपक्ष के या सत्ता पक्ष के हों, सब से बात हुई है। सभी की सहमति हैं। सबको साथ लेकर आगे चल रहे हैं।

 


Manisha rana

Related News