कोरोना जैसी महामारी को देखते हुए आंदोलनों के नाम पर गैदरिंग नहीं होनी चाहिए : निशान सिंह

9/18/2020 4:35:26 PM

चंडीगढ़ (चन्द्र शेखर धरणी) : कृषि अध्यादेशों के विरोध में हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर जेजेपी के प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह ने कहा है कि पहले तो कोरोना जैसी महामारी को देखते हुए आंदोलनों के नाम पर इस तरह की गैदरिंग नही होनी चाहिए। जबकि इन मुद्दों पर बैठकर बात करनी चाहिए थी। लेकिन अगर जहां तक लाठीचार्ज की बात है तो उसकी निंदा सबसे पहले जेजेपी नेता दिग्विजय ने की। जिसके बाद इसकी मैने निंदा करते हुए कहा कि किसान हमारे देश का अन्नदाता है और किसान अपनी बात लेकर जब सरकार के पास आता है तो सरकार को उससे बैठकर बात करनी चाहिए। इसमें शायद किसानों ने भी जल्दबाजी है जबकि यह भी लगता है कि किसानों के पीछे कुछ ऐसी ताकतें भी थी जो किसानों का मुद्दा हल करने की बजाय अपनी रोटियां सेकना चाहते है। उन्होंने इस पूरे प्रकरण को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

निशान सिंह ने कहा कि कृषि को लेकर तीनों अध्यादेशों के ऊपर हमारी मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक हुई थी ।जिसमे पूरी तरह से यह चर्चा हुई कि एमएसपी प्रभावित नही होनी चाहिए।इस बात को लेकर यूनियन एग्रीकल्चर मिनिस्टर ने आश्वासन भी दिया कि एमएसपी लागू रहेगी। जिसपर विश्वास करना चाहिए। वहीं टोहाना से जेजेपी विधायक दविंदर बबली के उपमुख्य मंत्री दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व को चुनौती देने के मुद्दे पर जेजेपी के प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह ने कहा कि कई बार बेटा भी बाप को चुनौती दे देता है।

घर की समस्यायों को लेकर ऐसी बातें कई बार हो जाती है। लेकिन यह पार्टी का पूरी तरह से अंदरूनी मामला है जिसे हम हल करेंगे। उन्होंने कहा कि बाप बेटे और भाई-भाई के रिश्तों में भी कई बार ऐसी कड़वाहट आ जाती है। इसको परिवार बैठकर दूर कर लेता है। दविंदर बबली पर इस  मामले में अनुशासनात्मक मुद्दा बनता है या नही इस सवाल पर निशान सिंह ने कहा कि  इन सभी मुद्दों पर पार्टी बैठकर विचार करेगी। यह पार्टी स्तर की बात है जिसपर कोई ज्यादा टिपण्णी करने की जरूरत नही है।

किसानों पर लाठीचार्ज के मुद्दे पर ग्रह मंत्री अनिल विज और जेजेपी नेताओं के बयानों में  फर्क होने पर जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह ने कहा कि मैने ऐसा नही सुना कि गृह मंत्री ने इस मामले में क्या कहा है लेकिन इस मामले में हमने अपना पक्ष साफ किया है कि किसान देश का अन्नदाता है जिसका हम आदर करते है।कही किसी पार्टी के बहकावे में आकर भी अगर किसानों ने कुछ किया तो भी हमें ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण चीजों से बचना चाहिए।

वहीं उन्होंने कहा बड़ौदा चुनाव को लेकर जेजेपी बीजेपी गठबंधन पूरी तरह से तैयार है और जब भी चुनाव आयोग की और से उपचुनाव की तिथि घोषित की जाएगी तो गठबंधन की और से बैठकर उम्मीदवार का फैसला किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसानों के पीछे खड़ी होकर उन्हें प्रोवोक करती है। कांग्रेस खुद लड़ाई लड़ने की बजाय किसानों को प्रोवोक करके उन्हें सरकार से लड़ाना चाहती है जबकि हम ऐसा नही होने देंगे।हम किसानो की पैरवाही करेंगें।

 


Manisha rana

Related News