गोली मारकर नीलगाय का शिकार, खाल उतारते मौके से पकड़े गए 2 आरोपी

7/31/2020 5:05:54 PM

फतेहाबाद(रमेश): फतेहाबाद के बड़ोपल व मोहम्मदपुर गांव के बीच खेतों में कुछ लोगों ने मादा नीलगाय का गोली मारकर शिकार कर नीलगाय का मांस निकालने की कोशिश कर रहे 2 लोगों को वन्यजीव रक्षकों ने मौके पर पकड़ा। घटना की सूचना मिलने पर बिश्नोई समाज के लोग मौके पर पहुंचे और उन्होंने सूचना वन्य प्राणी विभाग को दी। वन्य प्राणी विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर नीलगाय का कटा हुआ शव कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

घटना की जानकारी देते हुए वन्य जीव प्राणी निरीक्षक राजवीर सिंह ने बताया कि बिश्नोई समाज के लोगों की ओर से सूचना प्राप्त हुई थी कि गांव एमपी रोही के खेतों में नीलगाय का शिकार किया गया है और कुछ लोग नीलगाय का मांस निकालने का प्रयास कर रहे हैं। मौके पर पहुंचकर दो लोगों को नील गाय का मांस निकालते हुए और खाल उतारते हुए पकड़ा गया। आरोपियों के कब्जे से मांस काटने के औजार और टोपीदार बंदूक बरामद हुई है। वन्य जीव प्राणी निरीक्षक ने बताया कि नीलगाय का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है और मौके से जो हौसला बरामद हुआ है उसकी पड़ताल की जा रही है।

अगर बरामद हथियार अवैध मिलता है तो मामले में पुलिस के पास ऑरेंज एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत भी कार्रवाई की सिफारिश की जाएगी वहीं मौके पर पहुंचे वन्य जीव प्राणी रक्षक और अखिल भारतीय बिश्नोई सभा के प्रदेश अध्यक्ष विनोद कड़वासरा ने कहा कि टोपीदार बंदूक से नीलगाय को गोली मारी गई और उसके बाद खाल निकालकर दो लोग नीलगाय का मांस निकालने का प्रयास करते हुए समाज के लोगों ने पकड़े हैं।

मामले में वन्य जीव प्राणी विभाग को शिकायत दर्ज करवाई गई है और इस पूरे मामले में जो असला बरामद हुआ है उसके लिए पुलिस के पास अलग से आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज करवाने की मांग की गई है। इसके अलावा पशु क्रूरता अधिनियम के तहत भी कार्रवाई होनी चाहिए, क्योंकि बड़े ही क्रूर तरीके से क्षेत्र में नीलगायों की हत्या की जाती है और बाद में उनका माल निकाला जाता है। फिलहाल विभागीय तौर पर नीलगाय पर फायर कर हत्या करने का मामला दर्ज करते हुए वन्य प्राणी विभाग आगामी कार्रवाई में जुटा हुआ है।


Isha

Related News