गांव के तालाब से मिला पत्थर का चक्र, हड़प्पा कालीन इतिहास से जोड़ कर देख रहे लोग

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 06:32 PM (IST)

जींद(अनिल): जिले के अलेवा गांव में तालाब की खुदाई के दौरान पुरानी ईंटों का चक्र और दीवार मिलने से लोगों के अंदर अपने गांव का इतिहास जानने की जिज्ञासा बढ़ गई है। तालाब से निकली पुरानी चीजें को गांव के लोगों ने तालाब के साथ लगते शिवजी के मंदिर में रखवा दिया है। गांव के लोग इन चीजों को हड़प्पाकालीन बता रहे हैं।

तालाब में मिली पुरानी ईंटों की दीवार और पत्थर का चक्र

तालाब की खुदाई में मिली चीजें कितनी पुरानी है, यह तो पुरातत्व विभाग की जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। तालाब में मिली पुरानी चीजों को देखने के लिए गांव के लोग बड़ी संख्या में तालाब के पास पहुंच रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि अलेवा गांव में जिला प्रशासन द्वारा तालाब की खुदाई करवाई जा रही है। खुदाई के दौरान पुराने समय की करीब 20 फुट लंबी और 5 फुट चौड़ी पुरानी ईंटों की दीवार और पत्थर का च्रक निकला है। ग्रामीण इसे हड़प्पा काल के साथ जोड़ कर देख रहे हैं।

लोगों ने कहा गांव से जुडा है हड़प्पा कालीन इतिहास

गांव के लोगों ने बताया कि बुजुर्ग बताते हैं कि करीब एक हजार वर्ष पूर्व पटवे नामक जाति के लोग इस जगह पर एक मेले का आयोजन करते थे। उसके बाद करीब 700 वर्ष पूर्व इसी तालाब पर अलेवा गांव बसा था। समय के अनुसार अलेवा गांव का विस्तार होता गया और गांव के लोगों ने करीब 300 वर्ष पूर्व इसी तालाब पर शिवजी का मंदिर बनवा दिया। तभी से यह तालाब शिवजी के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। ग्रामीणों का मानना है कि अगर जिला प्रशासन इस तालाब की खुदाई करवाता है तो पुराने समय की और कई चीजें भी मिलने की संभावना है।

पुरातत्व विभाग से करवाई जा सकती है जांच

मामले को लेकर उचाना के एसडीएम राजेश ने कहा कि अलेवा गांव के तालाब में खुदाई के दौरान पुरानी चीजें निकलने का मामला उनके संज्ञान में नहीं है। अगर तालाब की खुदाई के दौरान कोई पुरानी चीजें निकली है तो पुरातत्व विभाग से इसकी जांच करवाई जाएगी।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static