कृष्ण दर्शन के लिए लोगों को मथुरा-वृंदावन के साथ ही कुरुक्षेत्र भी पहुंचना चाहिए- सीएम मनोहर लाल

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 06:40 PM (IST)

कुरूक्षेत्र(रणदीप): धर्मनगरी कुरुक्षेत्र स्थित गीता ज्ञान संस्थानम पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने वीरवार को भगवान श्री कृष्ण के विराट स्वरूप का किया लोकार्पण। इस दौरान गृहमंत्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर, राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा, और राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय भी इस समारोह में शामिल हुए। सुबह से ही हो रही भारी बरसात ने समारोह के रंग में भंग डाल दिया।

रिमोट कंट्रोल के जरिए भगवान कृष्ण के विराट स्वरूप का हुआ लोकार्पण

भगवत गीता की प्रक्रिया स्थली ज्योतिसर में स्थापित भगवान श्री कृष्ण के 40 फुट ऊंचे विराट स्वरूप का लोकार्पण गीता ज्ञान संस्थान के अंदर से ही रिमोट कंट्रोल के द्वारा किया गया। ज्योतिसर में 10 करोड़ की लागत से 5 टन वजनी अष्टधातु के 40 फुट ऊंचे विराट स्वरूप के लिए 10 फीट ऊंचा प्लेटफार्म भी बनाया गया है।

दिव्य कुरुक्षेत्र के नाम से विश्व भर में बनेगी नई पहचान

श्री कृष्ण के विराट स्वरूप का लोकार्पण करने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने संबोधन में कहा कि मेरे मन में खुद विचार आया था कि 48 कोस की परिक्रमा को बढ़ाना है और हर एक जगह हमारी सरकार जीर्ण द्वार कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव मनाया जाता है, उसी तर्ज पर कुरुक्षेत्र में श्री कृष्ण उत्सव भी मनाया जाएगा। अभी तक कुरुक्षेत्र को लैंड ऑफ़ महाभारत कहा जाता था, अब इसे लैंड ऑफ श्रीमद्भगवद्गीता के नाम के साथ लैंड ऑफ श्री कृष्ण भी कहा जा सकता है। अभी तक हमें भगवान श्री कृष्ण को जानने के लिए मथुरा वृंदावन जाना पड़ता था। अब कृष्ण भगवान को जानने के लिए लोगों को कुरुक्षेत्र भी आना चाहिए। आज करोड़ों रुपए की लागत से भगवान कृष्ण के विराट स्वरूप का लोकार्पण किया है। जल्द ही ज्योतिसर में श्री कृष्ण विराट स्वरूप के पास एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर का संग्रहालय भी बनेगा, जो आकर्षण का केंद्र होगा। केंद्र सरकार और प्रदेश की भाजपा सरकार मिलकर कुरुक्षेत्र को एक ऐसा केंद्र बना रही है जो पूरी दुनिया में अपनी पहचान बना ले। दिव्य कुरुक्षेत्र के नाम से कुरुक्षेत्र विश्व भर में आकर्षण का केंद्र बनेगा।

 

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static