पूरे देश से 500 किसान संगठन करेंगे दिल्ली कूच करेंगे: रामराज ढुल

11/24/2020 7:38:31 PM

जींद (अनिल कुमार): किसानों द्वारा किया गया दिल्ली कूच का ऐलान प्रशासन के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है। एक ओर किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए प्रशासन किसान नेताओं को गिरफ्तार कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर किसान संगठन दिल्ली कूच की तैयारियों को और तेज कर रहे हैं। जींद पुलिस किसान नेताओं को पकडऩे के लिए लगातार दबिश दे रही है, वहीं पुलिस की पकड़ से बचने के लिए किसान नेता अंडरग्राउंड हो गए हैं। उनका लक्ष्य हर हाल में दिल्ली कूच के ऐलान को सफल बनाने का है।

किसान संगठन के प्रवक्ता रामराज ढुल ने कहा कि  पूरे देश से लगभग 500 किसान संगठन 26 नवंबर को दिल्ली कूच करेंगे और हर हाल में किसान दिल्ली जाएंगे। उन्होंने कहा कि आंदोलन को देखकर राज्य व प्रदेश सरकारें डर गई हैं। केन्द्र सरकार दिल्ली कूच की मंजूरी कोरोना का बहाना बनाकर नहीं दे रही है।

उन्होंने बताया कि अब तक हरियाणा से 25 किसान, पंजाब से 65 किसान, राजस्थान से 40 किसान नेताओं को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। उन्होंने कहा कि 26 तारीख को किसान दिल्ली को चारों तरफ से घेरने का प्लान बना चुका है।

बता दें कि दिल्ली में प्रवेश रास्ते अमृतसर दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग कुंडली बार्डर, जयपुर दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग धारूहेड़ा, सिरसा दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग बहादुरगढ़, आगरा-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग बल्लभगढ़, बरेली दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग हापुड़ हैं। किसान इन्हीं रास्तों से दिल्ली में कूच करेंगे।

बता दें कि हाल में केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों का किसान लगातार विरोध कर रहे हैं। इसी विरोध-प्रदर्शन के चलते किसानों ने 26 नवम्बर को दिल्ली कूच की चेतावनी सरकार को दे रखी है। इसी के चलते रात से पुलिस किसान नेताओं को गिरफ्तार कर रही है।


Shivam

Related News