कोविड वैक्सीन उपलब्ध कराने में नाकाम हुई सरकार, घोषणा भी जुमला साबित हुई: राजन राव

5/15/2021 1:04:21 AM

गुरुग्राम ( गौरव): हरियाणा प्रदेश कांग्रेस समिति की अध्यक्षा, कुमारी सैलजा के राजनैतिक सचिव व दक्षिण हरियाणा के प्रभारी राजन राव ने 18+ के लोगों को एक मई से वैक्सीन लगाने की घोषणा को जुमला करार दिया है। उन्होंने कहा कि जुमलेबाज का एक और जुमला, जो लोगों की जान पर भारी पड़ रहा है। दूसरी झूठी घोषणाओं की तरह ही वैक्सिनेशन की घोषणा भी जुमला ही साबित हुई। उन्होंने कहा कि पहले दिन ही ढाई करोड़ लोगों ने अपना पंजीकरण करा लिया था, लेकिन सरकार लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराने में नाकाम साबित हुई। 

राव ने कहा कि 1 मई से पहले ही कई राज्य निर्धारित समय पर वैक्सीनेशन शुरू होने पर संदेह जता रहे थे जो आखिरकार सच साबित हुआ। महज कुछ भाजपा शासित राज्य की सरकारें ही निर्धारित समय पर वैक्सीनेशन का दम भर रही थी,  उनकी कलई भी अब खुल चुकी है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराने के बाद भी लोगों को वैक्सीनेशन के लिए तय तिथि नहीं मिल पा रही है। बमुश्किल पांच सात मिनट के लिए ही रजिस्ट्रेशन ऐप खुलती है जो सरासर सरकार की नाकामी की ओर इशारा करती है। 

राव ने कहा कि किसी भी राज्य में निर्धारण के तय मानकों के साथ वैक्सीनेशन की डोज नहीं पहुंच पाई जिसका खामियाजा आम जनता को अपनी जान गंवा कर चुकाना पड़ रहा है। हरियाणा में तो और भी बुरा हाल है। लोगों को ना रजिस्ट्रेशन हो पा रहे हैं और ना ही 18 + के लोगों को वैक्सीनेशन उपलब्ध है। इसके उलट प्रदेश की मनोहर लाल सरकार बड़े-बड़े दावे कर रही है। लाखों लाखों की आबादी वाले जिलों में 5 से 7000 की प्रतिदिन सप्लाई हो रही है ऐसे में सभी को वैक्सीनेशन की उम्मीद कैसे सिरे चढ़ सकती है? पहले सरकार 4 से 5 सप्ताह के अंतराल में दूसरी डोज अवश्य लगवाने के लिए निर्देशित कर रही थी लेकिन अब इसका समय 12 से 14 हफ्ते का कर दिया गया। 

उन्होंने कहा कि अपनी नाकामी छुपाने के लिए सरकार लोगों को उल्लू बना रही है। जब लोगों को तय समय पर वैक्सीनेशन की डोज नहीं लगेगी तो कोविड-19 जैसी भयानक महामारी से छुटकारा मिलने की उम्मीद भारत जैसे देश में कम ही नजर आती है। देश में कोरोना के बढ़ते प्रभाव का पहला और आखरी कारण सरकार की पूर्ण नाकामी है। उन्होंने कहा कि इस महामारी काल में कॉन्ग्रेस जनसेवा के कार्यों में पूरी तल्लीनता से जुटी है लेकिन सरकार को कांग्रेस का सेवा का कार्य सहन नहीं हो रहा। युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता दिल्ली के साथ-साथ पूरे देश में जिस तरह कोरोना पीड़ितों के साथ उनके परिजनों गरीब असहाय मजदूरों की मदद में जुटे हैं उससे साफ है कि बगैर किसी प्रचार और प्रसिद्धि के सच्चे अर्थों में जनसेवा को अपना धर्म मानती है। 

उन्होंने कहा कि युवा कांग्रेस द्वारा दिल्ली सहित पूरे देश में कोरोना पीड़िता को पहुंचाई जा रही मदद कि सोशल मीडिया पर हो रही सराहना भाजपा और सरकार के गले की फांस बन गई। यही कारण है कि सरकार ओछी हरकतों पर उतर आए तथा युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के घरों पर छापे पर मरवाए जा रहे हैं। उनका की युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी श्रीनिवासन के आवास पर छापेमारी यह सिद्ध करती है कि सोशल मीडिया पर मिल रही अपार सराहना से सरकार और भाजपा पूर्ण नाखुश है। उन्होंने सरकार को चेताया कि इस तरह की बदले की भावना से की गई कार्रवाई को तत्काल बंद किया जाए अन्यथा नतीजा बुरा होगा।

उन्होंने कहा कि जितने एनर्जी युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के खिलाफ लगाई जा रही है अगर सरकार उतनी एनर्जी को कोरोना पीड़ितों की मदद में लगाए तो शायद बढ़ते कोरोना प्रभाव को किसी हद तक कम करने में मदद मिल सकती है। लेकिन सरकार को लोगों की जान माल की कोई परवाह नहीं है। सरकार की कार्रवाई से यह एकदम साफ हो गया है। सरकार चाहे जितनी दमनकारी नीति अपनाए कांग्रेस के कार्यकर्ता इसी तरह जान सेवा में लगे रहेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static