लावारिस मिली छह वर्षीय बच्ची के स्वजनों को (एएचटीयू) की टीम ने तलाशा

punjabkesari.in Friday, Jul 01, 2022 - 10:40 AM (IST)

यमुनानगर:  अमादलपुर रोड पर लावारिस हालत में मिली छह वर्षीय बच्ची के स्वजनों को स्टेट क्राइम ब्रांच की एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) की टीम ने तलाश लिया। पांच दिन से किशोरी को बाल कुंज में रखा गया था। उसके साथ गलत काम भी हुआ था। जिस पर मामले में पोक्सो का केस बूडिय़ा गेट चौकी में दर्ज हुआ है।

वीरवार को यूनिट के इंचार्ज एएसआइ जगजीत सिंह, हेड कांस्टेबल रणधीर व राजतिलक की टीम ने किशोरी के स्वजनों को लेकर बालकुंज में पहुंची। यहां पर बूडिय़ा गेट चौकी से जांच अधिकारी मीना व लखविंद्र सिंह और सीडब्ल्यूसी मेंबर अलका, बाल कुंज अधीक्षक मोना चौहान भी साथ रहे। उनकी मौजूदगी में किशोरी को उसके माता पिता के सुपुर्द कर दिया गया। एएसआइ जगजीत सिंह ने बताया कि किशोरी के माता पिता से भी बात की गई, तो पता लगा कि वह दिहाड़ी मजदूरी करते हैं। मां ने यही सोचा कि बेटी पिता के पास गई है। जबकि पिता मजदूरी के बाद शराब पीता है। वह कई-कई दिन तक घर नहीं आता। 

26 जून को बूडिय़ा गेट चौकी पुलिस को छह वर्षीय बच्ची के अमादलपुर रोड पर घूमने की सूचना मिली थी। जिस पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बच्ची को रेस्क्यू किया। उसके माता पिता के बारे में जानने की कोशिश की गई। सोशल मीडिया के माध्यम से भी प्रचार किया गया, लेकिन कोई पता नहीं लग सका। जिस पर पुलिस ने बच्ची के बारे में चाइल्डलाइन को सूचना दी। वहां से टीम ने बच्ची की काउंसलिंग की। ब्लीडिंग होने पर उसकी काउंसलिंग कराई। जिसमें उसके साथ गलत काम का पता लगा। इस मामले में पोक्सो के तहत केस दर्ज किया गया है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static