किसानों को राहत : अभय चौटाला ने सिंघु बार्डर पर खोला 40 बैड का अस्पताल

punjabkesari.in Wednesday, Apr 07, 2021 - 09:13 AM (IST)

सोनीपत : सिंघु बार्डर पर धरनारत करीब 15 हजार किसानों को बड़ी राहत मिली है। ताऊ देवीलाल की पुण्यतिथि पर इनैलो नेता अभय चौटाला ने यहां 40 बैड का अस्पताल खोला है जिसमें ज्यादातर रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सक तैनात किए हैं। यही नहीं, अस्पताल में प्राथमिक जांच रिपोर्ट भी तैयार हो सकेगी। अभय चौटाला ने 1000 वाटर कूलर लगाने की भी घोषणा की है जिनमें से 500 सिंघु बार्डर पर तो 500 टिकरी बार्डर पर लगाए जाएंगे। गर्मी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। अभय चौटाला ने आरोप लगाया कि सरकार की तरफ किसानों की मांगें माने जाना तो दूर, उन्हें धरने पर पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं करवाई जा रहीं जिस कारण इनैलो को यह फैसला लेना पड़ा है।

किसानों के समर्थन में विधायक पद से इस्तीफा दे चुके अभय चौटाला मंगलवार को सिंघु बार्डर पर किसानों के समर्थन में पहुंचे थे। यहां उन्होंने 40 बैड के अस्पताल का उद्घाटन किया जिसमें सर्जन, मैडीशिन, गायनी समेत सभी विशेषज्ञ विभागों के चिकित्सक तैनात किए गए हैं। यहां 24 घंटे सुविधा उपलब्ध रहेगी और बीमार किसानों का इलाज किया जा सकेगा। अभय ने कहा कि इससे पहले टिकरी बार्डर पर 400 बैड का अस्पताल शुरू किया गया है जिसमें रोजाना करीब 400 ओ.पी.डी. की जाती हैं। उन्होंने अस्पताल का उद्घाटन स्थानीय किसान के हाथों करवाया।

जजपा के नेता  देवीलाल के सच्चे अनुयायी  तो इस्तीफा दे किसानों के बीच आएं
अभय चौटाला ने इस दौरान जननायक जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा और ताऊ देवी लाल के जीवन पर मीडिया से बातचीत भी की। उन्होंने कहा कि अगर जननायक जनता पार्टी के नेता ताऊ देवीलाल के पदचिन्हों पर चलने वाले सच्चे हितैषी हैं तो अपना इस्तीफा देकर किसानों के बीच में आएं और पहली पंक्ति में बैठें। उन्होंने कहा कि ताऊ देवीलाल की पुण्यतिथि पर बैठकर उनको विचार करना चाहिए। वे किसानों के बीच आएं तो हम उनका स्वागत करेंगे। जजपा ने ताऊ देवीलाल की नीतियों को भाजपा के पास गिरवी रख दिया है। अभय सिंह चौटाला ने किसान आंदोलन पर बोलते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यह आंदोलन लंबा चलेगा लेकिन किसान सरकार के सामने नतमस्तक नहीं होगा। किसी भी कीमत पर सरकार को किसानों के सामने झुकना ही पड़ेगा।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static