भारत मां की रक्षा करते हुए हरियाणा का लाल शहीद, घर का इकलौता चिराग था सतपाल

punjabkesari.in Sunday, Aug 16, 2020 - 05:26 PM (IST)

अग्रोहा (सुथार): हरियाणा के अग्रोहा के साधारण किसान परिवार में जन्मे भारतीय सेना के जवान सतपाल भाकर(30) ने भारत मां की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। शहीद सतपाल भाकर का पार्थिव शरीर कल सुबह अग्रोहा लाया जाएगा, जहां उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

शहीद के परिजनों ने बताया कि 10 साल पहले सतपाल भाकर भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। 3 साल से उसकी पोस्टिंग लेह लद्दाख में थी। जहां भारत मां की रक्षा करते हुए सतपाल ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। 

परिजनों के मुताबिक वह परिवार का इकलौता चिराग था। सतपाल शादीशुदा था, उसकी दो बेटियां हैं और दो बहनें भी हैं। सतपाल के शहीद होने की सूचना जैसे ही मिली तो गांव में माहौल गमगीन हो गया। उनके घर पर ढांढस बंधाने वालों का तांता लग गया। परिजनों ने बताया कि शहीद सतपाल भाकर का पार्थिव शरीर कल सुबह गांव लाया जाएगा। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

vinod kumar

Related News

Recommended News

static