रिकॉर्ड तापमान के साथ भीषण गर्मी का कहर जारी, बिजली कट ने बढ़ाई लोगों की परेशानी

punjabkesari.in Monday, May 02, 2022 - 08:32 AM (IST)

फिरोजपुरझिरका (ब्यूरो) : जिले में रिकार्ड तापमान के साथ भीषण गर्मी का कहर जारी है। शनिवार को तापमान ने पिछले कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इस दिन इलाके का अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस पर दर्ज किया गया।

उधर भीषण गर्मी के बीच लग रहे बिजली कटो ने लोगों को दुखी करके रख दिया है। फिरोजपुर झिरका में प्रत्येक दिन करीब साढ़े छह घंटे के लिए बिजली आपूर्ति रोकी जा रही है। इससे कई गांवों में बिजली-पानी को लेकर त्राही-त्राही मची हुई है। प्रचंड गर्मी के असर ने जहां इलाके का जनजीवन प्रभावित कर दिया है वहीं इसके कारण इलाके के कई जोहड़ तालाब व बोरिंग इत्यादि का भूजल स्तर काफी नीचे चला गया है। जानकारी के अनुसार पिछले दो सालों में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के लगभग 500 से अधिक बोर सूख चुके हैं।

बता दें कि मेवात इलाका इस समय प्रचंड गर्मी की तपिश में जलता दिखाई दे रहा है। यहां बिजली पानी को लेकर स्थिति बहुत ज्यादा खराब होती जा रही है। शनिवार को इसका सबसे ज्यादा असर इलाके में देखा गया। यहां सूरज की तपिश जैसे ही बढ़ी तो इसने इलाके के जनजीवन को पटरी से उतार दिया। बीते 10 दिनों से दिल्ली-एनसीआर सहित नूंह व समीपवर्ती जिला अलवर में गर्मी का सितम लोगों पर कहर बरपा रहा है। यहां दो सप्ताह से तापमान 42 से 46 डिग्री के बीच बना हुआ है। सुबह दिन निकलते ही तापमान में तेजी से बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। दोपहर होते-होते यहां आसमान से आग बरसनी शुरु हो जाती है। आज शनिवार दोपहर चार बजे उच्चतम तापमान 46 डिग्री तक जा पहुंचा। इसके कारण इलाके में गर्मी बढ़ गई। दिन में जबरदस्त गर्मी के चलते जहां सड़कों पर वाहनों की रफ्तार थमी नजर आई, तो वहीं इसके चलते बाजारों में भी सन्नाटा पसरा दिखाई दिया। 

लगातार गिर रहा है भू जलस्तर
जिले में बीते तीन सालों से भूजलस्तर लगातार नीचे खिसक रहा है। इसका कारण इलाके में पिछले कई सालों से बारिश का कम होना और यहां लगातार हो रहे जल दोहन के मामलों ने यह संकट पैदा किया है। विभाग के एसडीओ वली मोहम्मद ने बताया कि ये बात सही है कि पिछले कुछ वर्षो में जलस्तर काफी नीचे खिसका है। इससे पेयजल आपूर्ति पर असर पड़ा है। वर्तमान में पड़ रही गर्मी के चलते उपमंडल में कई बोरिंग सूख गए हैं। बोरिंग सूखने से पेयजल सप्लाई पर भारी असर पड़ा है। व्यवस्था बनाकर पानी की सप्लाई शुरू की जा रही है।

ईद के पहले दिखा बाजारों में सन्नाटा
ईद के त्योहारों पर अकसर गुलजार रहने वाले बाजारों में इस बार सन्नाटा नजर आ रहा है। इसके पीछे कारण भीषण गर्मी है। झुलसाने देने वाली गर्मी के चलते लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। निश्चित ही इस गर्मी ने लोगों को घरों में कैद रहने के लिए मजबूर कर दिया है। उधर गर्मी से दुकानदारों के व्यवसाय पर भी भारी असर पड़ा है। वहीं मौसम विभाग की माने तो मई माह में आज के दिन तापमान में थोड़ी  बादलों की वजह से गिरावट आई है सोमवार मंगलवार को गरज के साथ बारिश होने की संभावना है

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static