दिल्ली चलो आंदोलन से हालात हुए बदतर, बीमार बच्चों के साथ पैदल चलने पर मजबूर मां

11/26/2020 10:44:49 PM

जींद (अनिल कुमार): तीन नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के दिल्ली चलो आंदोलन और प्रशासन की नाकाबंदी का अंजाम आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। उत्तर भारत से दिल्ली पहुंचने वाले रास्ते अधिकतर हरियाणा से होकर गुजरते हैं, जिनको सील किए जाने के बाद कई किलोमीटर लंबा जाम सड़कों पर लगना शुरू हो गया है। इस बीच अपने गंतव्य की ओर निकले लोग इस समय मुसीबत का सामना कर रहे हैं।

PunjabKesari, Haryana

इन्हीं लोगों में एक मजबूर मां भी शामिल है, जो अपने बीमार बच्चों को लेकर 107 किलोमीटर का सफर करने को मजबूर हो गई है। मजबूर महिला को पैदल प्रस्थान लॉकडाउन के उन दिनों को याद कराता है जब कोरोना के कारण लॉकडाउन लगा और हजारों प्रवासी मजदूर अपने घरों की निकल पड़े थे। अपने बच्चों के साथ निकली महिला का कहना है कि बीमार बच्चा क्या करे? घर तो जाना ही है। उसने बताया कि लुधियाना में शादी के समारोह में आए थे, अब मजबूर होकर वापस फिर लुधियाना ही जा रहे हैं। महिला ने बताया कि डेढ़ घण्टे से पैदल ही चल रहे हैं कोई साधन नहीं मिल रहा है।

PunjabKesari, Haryana

जाम में फंसी महिला जिसका हाल ही में हुआ है ऑपरेशन
वहीं जींद के बोडर गढ़ी पर जाम लगने के कारण करीब 200 से ज्यादा ट्रक जाम में फंस गए हैं। इनमें सबसे गंभीर समस्या तो बीमार महिला के लिए बन गई है, जिसका पित्त की थैली का हाल ही में ऑपरेशन हुआ है। इस महिला की डेली रुटीन की दवाइयां चल रही हैं, लेकिन दवाईयां घर पर हैं और वह जाम में फंस गई, जिसके पास दर्द से कराहने के अलावा कोई चारा नहीं बचा। महिला ने बताया कि वह बुधवार शाम 4 बजे आगरा से चली है, लेकिन अभी तक घर नहीं पहुंची। 

PunjabKesari, Haryana

वहीं जाम में फंसे ट्रकों की बात करें तो इनमें अति ज्वलनशील पदार्थ जैसे पेट्रोल- डीजल आदि से भरे ट्रक भी खड़े हैं जो कहीं ना कहीं बड़ी लापरवाही के चलते एक बड़े हादसे का शिकार बन सकते हैं। बता दें कि आज किसान कर्मचारियों द्वारा देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया हुआ है और किसानों ने दो दिन से हरियाणा बॉर्डर पर डेरा डाला हुआ है और दिल्ली कूच का ऐलान किया हुआ है। 

PunjabKesari, Haryana

जींद में करीब 200 से अधिक जाम में फंसे हुए हैं, जिनमें से कोई बंगाल से आया है तो कोई हैदराबाद और चेन्नई से। वहीं ड्राईवरों को खाने की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। आस पास कोई ढाबा भी नहीं खुला और जहां खुला है वहां पर ट्रकों की संख्या देखते हुए दाम बढ़ा दिए गए हैं। बता दें कि पुलिस ने रूट डायवर्ट करने का दावा किया था जो फेल साबित हो रहा है।


Shivam

Related News