नगर परिषद घोटाला: किसी ने बनाया मकान तो किसी ने रिश्तेदारों को किया मालामाल

punjabkesari.in Sunday, Mar 27, 2022 - 08:53 AM (IST)

 

भिवानी: नगर परिषद घोटाले के मामले में रोजाना कुछ न कुछ नया सामने आ रहा है। घोटाले की जांच में जुटी पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। इस घोटाले में नप के तत्कालीन तीन कार्यकारी अधिकारियों के नाम भी आए हैं।

घोटाले की जांच में जुटी पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। इस घोटाले में नप के तत्कालीन तीन कार्यकारी अधिकारियों के नाम भी आए हैं। अब पुलिस जल्द ही मामले में कार्रवाई कर सकती है। पुलिस इस मामले में अब तक चार आरोपियों बैंक मैनेजर नितेश, चिड़िपाल गली वासी नितिन, चरखी दादरी वासी अरुण और पानीपत वासी कपिल को गिरफ्तार कर चुकी है। बैंक मैनेजर को दो दफा रिमांड पर लेने के बाद जेल भेजा जा चुका है।

नितिन और अरुण चार दिन के रिमांड पर है, तो कपिल को दूसरी दफा दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। पुलिस रिमांड पर लिये तीनों आरोपियों से पूछताछ में जुटी है। अब तक की जांच में सामने आया कि मामले में नप के अकाउंटेंट संजय बंसल का बड़ा रोल है और वह इस घोटाले के खुलासे के बाद से फरार है। आरोपी व्यापारी विनोद के भतीजे नितिन और बैंक मैनेजर दोस्त है, जिसके बाद इन्होंने सारा खेल खेला। इसमें नप के पदाधिकारी, तत्कालीन अधिकारी भी शामिल है। जांच में सामने आया है कि करोड़ों रुपये हड़पकर किसी ने मकान बना लिया तो किसी ने महंगे फोन, कार खरीद ली। कुछ ने रिश्तेदारों को रुपया दिया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static