हरियाणा सरकार का फैसला, 10वीं में पास हुए विद्यार्थियों को चाहिए स्कालरशिप, तो करना होगा ये काम

2021-06-13T11:16:27.533

ब्यूरो: हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा दसवीं के परीक्षा परिणाम में सभी बच्चे पास हो गए हैं। इसके बावजूद इन विद्यार्थियों को स्कालरशिप (वजीफा) नहीं मिलने वाली। दरअसल अगर बच्चों को स्कालरशिप चाहिए तो पहले बोर्ड परीक्षा देनी होगी जिसके बाद शीर्ष स्थान पर रहने वाले बच्चों को ही स्कालरशिप दी जाएगी। 

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि महामारी का संक्रमण कम होने के बाद परिस्थितियां अनुकूल होने पर बाेर्ड परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी, जिसमें इच्छुक छात्र शामिल हो सकते हैं। परीक्षा में शरीक हुए टापर बच्चों को ही सरकार स्कालरशिप देगी। वहीं, पहली से आठवीं तक के बच्चों को इस बार किताबें खरीदने के लिए 200 से 300 रुपये सीधे उनके खाते में डाले जाएंगे। इसके अलावा वह सीनियर छात्रों से भी किताबें ले सकते हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना का संक्रमण कम होने से हालात सामान्य हो रहे हैं। हालांकि अब भी अभिभावक और छात्र सहमे हुए हैं, इसलिए तमाम पहलुओं का आकलन के करने के बाद ही स्कूल खोले जाएंगे। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Recommended News

static