रोहतक यूनिवर्सिटी में पढऩे वाले छात्रों का होगा बीमा, फीस के साथ जमा होगा प्रीमियम(VIDEO)

6/30/2020 5:54:18 PM

रोहतक (दीपक भारद्वाज): कोरोना महामारी के बीच महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी रोहतक से राहत भरी खबर आ रही है। यूनिवर्सिटी अपने छात्रों का बीमा करवाएगी जो अपने आप में एक ऐतिहासिक पहल है। विश्वविद्यालय छात्र से बीमा प्रीमियम के रूप में मात्र 48 रुपये लेेगा। इतनी ही राशि यूनिवर्सिटी की तरफ से बीमा कम्पनी में जमा करवाई जाएगी। वैसे पॉलिसी का प्रीमियम 80 रुपये प्रतिवर्ष है। भारतीय जीवन बीमा निगम के मुताबिक जीएसटी वगैरह मिलाकर सामूहिक बीमा पॉलिसी 96 रुपये की है। अधिकारियों का कहना है कि छात्रों का बीमा करने वाली एमडीयू देश में पहली यूनिवर्सिटी होगी।

योजना को पायलेट बेस पर शिक्षा सत्र 2020-21 में लागू किया जा रहा है। इसके लिए प्रशासनिक औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। अगर योजना सफल होती है तो बाद में इस कॉलेज स्तर पर भी लागू करवाया जाएगा। रोहतक यूनिवर्सिटी के छात्र कल्याण विभाग अधिकारी डॉ. राज कुमार ने बताया कि किसी भी छात्र के साथ अनहोनी पर इस योजना में अभिभावकों को राहत मिल जाएगी।

बताया जा रहा है कि योजना को लागू करने के लिए जो भी प्रशासनिक औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं, वे की जा चुकी हैं। अब बस शिक्षा सत्र के शुरू होने का इंतजार है। महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय कैम्पस में दस हजार के करीब छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। बीमा योजना की शुरुआत में इन छात्रों को ही शामिल किया जा रहा है। 

अगर योजना सफल हो जाती है तो अगले शिक्षा सत्र से विश्वविद्यालय से संबद्ध दूसरे शिक्षण संस्थानों में भी लागू करवाया जाएगा। ताकि शिक्षण संस्थान का किसी भी आपात स्थिति में छात्रों के साथ होने वाली अनहोनी का जोखिम कम होगा। शिक्षण संस्थान छात्रों को टूर वगैरा पर ले जाते हैं तो उनका बीमा करवाना पड़ता है। क्योंकि नियमानुसार किसी भी छात्र को बिना बीमा के कहीं पर नहीं ले जाया जा सकता है। अगर शिक्षण संस्थान बिना बीमा के छात्रों को कहीं लेकर जाते हैं तो पूरे जोखिम की जिम्मेदारी प्रबंधन की होती है। अब बीमा योजना लागू होने के बाद किसी भी छात्र का अलग से बीमा करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

एक लाख रुपये का क्लेम सामूहिक बीमा योजना में शामिल छात्र के साथ कोई भी अनहोनी होती है तो विश्वविद्यालय बीमा कम्पनी की तरफ छात्र के अभिभावकों को एक लाख रुपये का क्लेम दिलवाएगी। यह क्लेम प्राकृतिक और दुर्घटना दोनों प्रकार की मृत्यु पर देना पड़ेगा। अब अगस्त और सितम्बर से शुरू हो रहे नए शिक्षा सत्र के लिए जब छात्र अपनी फीस जमा करवाएंगे तो उसके साथ ही 48 रुपये देने होंगे। यह पैसा छात्र कल्याण कोष में जमा हो जाएगा। इस कोष से पैसा बीमा कम्पनी को प्रीमियम के रूप में जमा करवा दिया जाएगा। यानि के विश्वविद्यालय कैम्पस में पढऩे वाले सभी छात्रों के लिए यह अनिवार्य होगी।


Shivam

Related News