डॉक्टर ने रोते हुए कहा- भाजपा नेता की शिकायत पर बिना जांच के कर दिया सस्पेंड (वीडियो वायरल)

5/7/2021 12:02:13 AM

गोहाना (सुनील जिंदल): गोहाना के भगत फूल सिंह महिला मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित मरीज के साथ दुव्र्यवहार करने का आरोप में डॉक्टर को सस्पेंड करने का मामला अब तूल पकड़ रहा है। सस्पेंड हुए डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि वीआईपी तुष्टीकरण के चलते ही उस को सस्पेंड किया गया है। 

उसका कहना है कि कॉलेज प्रशासन ने कार्रवाई करने से पहले जांच तक करना उचित नहीं समझा सीधा सस्पेंड का लेटर उन्हें थमा दिया गया उसका पक्ष तक नहीं सुना गया जबकि वह पूरा इमानदारी और बिना भेदभाव के कोरोना काल में मरीजों की सेवा करते आ रहा है। इसके बावजूद भाजपा नेता द्वारा उसके साथ दुव्र्यवहार किया। डॉक्टर ने कॉलेज के डायरेक्टर से मामले की निष्पक्ष जांच और दुव्र्यवहार करने पर भाजपा नेता के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की है। 

बता दें कि मेडिकल कॉलेज के निदेशक ने स्पेशल कोविड अस्पताल में नियुक्त डीएमओ डॉ. कपिल देव को मंगलवार को सस्पेंड किया था। डॉ. कपिल पर आरोप था कि उन्होंने वार्ड में मरीज के साथ दुव्र्यवहार किया है। इसके आरोप में निदेशक डॉ. एपीएस बत्रा ने उन्हें सस्पेंड करते हुए उनको मेडिकल उपाधीक्षक के कार्यालय से संबद्ध कर दिया था। 

इसके बाद बुधवार को सस्पेंड होने वाले डीएमओ का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें डीएमओ ने रोते हुए अपना स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उसकी कोई गलती नहीं थी। डीएमओ का कहना है कि इसको लेकर बार-बार दोस्तों और घर वालों के फोन आ रहे हैं। मैं अपने आपको डिप्रेशन में महसूस कर रहा हूं। 

वहीं इस बारे में मेडिकल के नोडल अधिकारी व एसडीएम आशीष वशिष्ठ ने बताया उन्हें भी मीडिया के माध्यम से पता चला है और उनके पास भी सस्पेंड किए जाने की एक कॉपी आई है। इसकी वो जांच कर रहे हैं, जल्द ही इस मामले को सुलझा दिया जाएगा। 
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static