ओलावृष्टि और बेमौसमी बारिश का कहर, किसानों को हुआ भारी नुकसान

11/28/2019 5:38:45 PM

गोहाना(सुनील जिंदल)- गोहाना की अनाज मंडी में  धान का सीजन सुरु होने से पहले मंडी प्रशासन की तरफ से बड़े बड़े दावे किये गए थे लेकिन गोहाना में कल से हो रही बेमोशमी बारिश ने मंडी प्रशासन के दावों की पोल खोल कर रख दी बल्कि मंडी प्रशासन की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़ा कर दिया है।

PunjabKesari

गोहाना की मंडी में इस वक्त हजारों क्विंटल धान की ढेरियां और बोरिया बारिश के कारण भीग रही है लेकिन मंडी के अधिकारी आँख मीचे बैठे हुए है वही मंडी में पानी निकासी का भी इंतज़ाम नही है,करोड़ो रु की लागत से बने सीवर केवल सफेद हाथी हैं,हालात ज्यो के त्यों है,पानी निकासी के लिए एक बार भी प्रबंध नही हुआ है। हर साल ये ही हाल होता है मंडी  मंडी में काम करने वाले आढ़तियों की माने तो हर साल मार्किट कमेटी को मार्किट फिश के तोर पर करोडो रुपए जाते है लेकिन उसके बावजूद मंडी प्रशासन का मंडी की तरफ कोई ध्यान नहीं है।

PunjabKesari

गौरतलब है की अबकी बार प्रदेश में किसानो की धान के फसलों के उचीत भाव नहीं मिल रहे ऊपर से आज हुई बेमौशमी बारिश के चलते किसानो की चिंता को बड़ा दिया बारिश से एक बार फिर धान की फसल के भाव में गिरावट देखने को मिल सकती है तो उधर किसानो की आने वाली गेहू की फसल को भी इस बारिश से नुकशान हो सकता है जिस के चलते किसान कर्ज में डूबने को मजबूर है मंडी के आढ़तियों ( दुकानदारों ) व् छोटे खरीदारों की माने तो इस बेमौशमी बारिश से किसानो के इलावा खरीदार को भी नुकशान है बारिश से जहा एक तरह भाव में कमी आएगी तो वही दूसरी और मंडी में ख़रीदा गया धान भीगने से अब उसका समय पर उठान नहीं हो सकेगा 


Isha

Related News