गठबंधन दल की बयानबाजियों से सरकार की स्थिरता पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा: रामविलास शर्मा

punjabkesari.in Thursday, Jun 02, 2022 - 05:50 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा भजपा के दिग्गज, कद्दावर नेता पूर्व मंत्री राम बिलास शर्मा ने भजपा-जेजेपी गठबंधन में क्यों नहीं लड़ी चुनाव पर कहा है कि निकाय चुनावों में उकलाना विधानसभा में पूरी तरह से हार के बावजूद आज भी जेजेपी के विधायक अनूप धानक प्रदेश सरकार के मंत्री हैं। जींद विधानसभा उपचुनाव के दौरान रणदीप सुरजेवाला पर बड़ा कटाक्ष करने वाले रामविलास शर्मा प्रदेश के बेहद ताकतवर, वरिष्ठ और बेबाक नेताओं में से एक है।

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि सुरजेवाला को आखिर राज्यसभा भेजने के लिए हरियाणा की बजाय राजस्थान पलायन की आवश्यकता क्यों समझी गई। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस एक डूबता जहाज है और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल एक भटके हुए इंसान हैं। भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष, पूर्व मंत्री रामविलास शर्मा ने इस मौके पर गठबंधन दल जजपा को लेकर किए गए सवालोंं का बहुत बेहतरीन सुलझे हुए, परिपक्वता के साथ जवाब दिए। उन्होंनेे कहा बयानबाजियों से सरकार की स्थिरता पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। शर्मा से हाल के राजनीतिक हालातों पर बड़े विस्तार से चर्चा हुई। कुछ अंश आपके सामने प्रस्तुत है:-

प्रश्न : राज्यसभा के लिए भाजपा- कांग्रेस उम्मीदवारों के साथ निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिक शर्मा की एंट्री पर आपका राजनीतिक अनुभव क्या कहता है ?
उत्तर : 
भारतीय जनता पार्टी पूरे देश में भाई-भतीजावाद की नीति से दूर होकर काम करती है। भाजपा ने हरियाणा में पूर्व परिवहन मंत्री एवं पांच बार विधायक रहे एससी समाज के बेहद लोकप्रिय नेता कृष्ण लाल पंवार को अपना अधिकृत उम्मीदवार बनाया है। भारतीय जनता पार्टी हर फैसला सभी सामाजिक वर्गों को ध्यान में रखकर लेती है। कृष्ण लाल पंवार को उम्मीदवार नियुक्त करने की सराहना पूरे प्रांत में हो रही है। वहीं प्रदेश में वरिष्ठ नेत्री पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा को हटाकर पुत्र मोह सामने आया था। निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिक शर्मा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं मीडिया से संबंधित व्यक्ति विनोद शर्मा के पुत्र हैं। 10 तारीख को मतदान होगा। हमने उत्तर प्रदेश में बाबूलाल निषाद, यूपी के अध्यक्ष डॉ लक्ष्मीकांत वाजपेई राजस्थान में छह बार विधायक रहे घनश्याम तिवारी को राज्यसभा सांसद की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है। वहीं कांग्रेस का खेल अब सामान्य व्यक्ति भी समझ रहा है।

प्रश्न : जेजेपी-निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिक शर्मा से क्रॉस वोटिंग का क्या कोई खतरा नहीं है ?
उत्तर : 
कार्तिक शर्मा के पिता विनोद शर्मा का लंबा राजनीतिक बैकग्राउंड रहा। वह पूर्व कांग्रेसी नेता है। लेकिन नेता और नीति की कमी के कारण कांग्रेस का जहाज डूब रहा है। हिंदुस्तान में डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जवाहरलाल नेहरू की सरकार में केंद्रीय उद्योग मंत्री के पद का त्याग कर अपनी विचारधारा की स्थापना जनसंघ के रूप में की। 22 दिसंबर को कश्मीर के सत्याग्रह की शुरुआत की और उन्हें कठुआ से गिरफ्तार किया गया। 23 जून 1953 को हमें उन की डेड बॉडी प्राप्त हुई। "जहां हुए बलिदान मुखर्जी- वह कश्मीर हमारा है, सारे का सारा है"। यही विचारधारा के साथ आगे बढ़ते हुए 5 अगस्त 2019 को देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाई। हमारा दल भाजपा आज भी सभी 36 बिरादरी के सम्मान को आगे बढ़ाते हुए चलने वाली पार्टी है। "अयोध्या हुई हमारी है, अब मथुरा की बारी है" कुछ लोग 2024 की तैयारी का आरोप हम पर लगा रहे हैं। लेकिन यह सच है कि हम 2024 की तैयारी में भी लगे हुए हैं। देश के प्रधानमंत्री अभी जापान की यात्रा से लौटे हैं। भारतीय लोगों का पूरी दुनिया में रहते हुए अपना एक ओरा है और हमारे प्रधानमंत्री की सोच पूरे विश्व में भारतीयों के सम्मान को बढ़ाना है।

प्रश्न : संगठनात्मक बदलाव के बाद ट्विटर के माध्यम से कुलदीप बिश्नोई का पार्टी के प्रति नाराजगी जाहिर बारे आपका क्या आकलन है ?
उत्तर : 
कुलदीप बिश्नोई मेरा अजीज है। मुझे चाचा कहता है। वह हमारे साथ पहले भी गठबंधन में रहे है।

प्रश्न : चाचा की उंगली पहले पकड़ी थी, क्या दोबारा भी ऐसा ही कुछ हो सकता है ?
उत्तर : 
मैं हमेशा जनसभाओं में कहता हूं कि "हमारी गली आवे नहीं, आवे तो जावे नहीं, जावे तो सुख पावे नहीं"। अगर किसी को यकीन नहीं तो पटियाला की जेल में जाकर यह बात नवजोत सिंह सिद्धू से पूछी जा सकती है।

प्रश्न : जेजेपी और बीजेपी के आपसी मतभेद की अटकलों की वास्तविक स्थिति स्पष्ट करें ?
उत्तर : 
मनोहर लाल के नेतृत्व की सरकार में दुष्यंत चौटाला उपमुख्यमंत्री हैं। हमारी पार्टी ने निकाय चुनावों में अंबाला और सोनीपत के चार चार वार्डो जेजेपी को टिकट दी। रेवाड़ी नगर परिषद के चुनाव में पूनम यादव हमारे सिंबल पर चुनाव जीती। हमने पड़ोसी नगर पालिका धारूहेड़ा पूरी इन्हें दी। उकलाना विधानसभा में पूरी तरह से हार के बावजूद आज भी जेजेपी के विधायक अनूप धानक प्रदेश सरकार के मंत्री हैं। भारतीय जनता पार्टी आज विश्व की सबसे बड़ी पार्टी है और हमारी पार्टी में कार्यकर्ताओं की फीडबैक और सलाह के बिना कोई बड़ा महत्वपूर्ण फैसला नहीं लिया जाता। शीर्ष नेतृत्व पॉलिसी डिसीजन नीचे की फीडबैक के बाद ही करता है। अभी संभावनाएं समाप्त नहीं हुई हैं। जेजेपी द्वारा उम्मीदवार डिक्लेअर किए जा चुके हैं और भाजपा के होंगे। लेकिन सीट एडजेस्टमेंट अभी भी मुमकिन है।

प्रश्न : क्या 2024 का चुनाव भाजपा अकेले लड़ेगी ? 
उत्तर : 
अभी काफी कार्यकाल बाकी है। यह स्पष्ट है कि नगर पालिका चुनाव को लेकर होने वाली बयानबाजियों से सरकार की स्थिरता पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

प्रश्न : कांग्रेस के एक अध्यक्ष और चार कार्यकारी अध्यक्ष के फैसले को देखने का आपका नजरिया क्या है?
उत्तर : 
जनसंघ में डॉ मंगलसेन, डॉ कमला वर्मा, स्वर्गीय सूरजभान अध्यक्ष थे और मैं भारतीय जनता पार्टी का दोबारा अध्यक्ष रहा हूँ। 1991 में मैं अकेला भाजपा की तरफ से विधानसभा सदस्य रहा। 2014 में मेरी अध्यक्षता में लड़े चुनाव में कमल के फूल पर 47 और 6 समर्थन प्राप्त लोग चुनाव जीते।  इस फैसले से कांग्रेसी पार्टी को कोई मजबूती नहीं मिलेगी। रणदीप सुरजेवाला जैसे वरिष्ठ नेता जो राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं, उन्हें राजस्थान के जैसलमेर में भेज दिया गया और दिल्ली के मकान को हरियाणा में लाया गया, इस फैसले से यह स्पष्ट है कि कांग्रेस नेतृत्व यह समझता और मानता है कि हरियाणा में रणदीप सुरजेवाला को रिस्क हो सकता है यानि हरियाणा पर इन्हें विश्वास नहीं है, यह चीज कांग्रेस नेतृत्व खुद मान चुका है। हमने कृष्ण लाल पंवार को भारतीय जनता पार्टी का राज्यसभा सदस्य उम्मीदवार बनाया।

प्रश्न : भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अरविंद केजरीवाल जीटी रोड बेल्ट की लड़ाई लड़ रहे हैं, क्या इससे भाजपा को कोई खतरा है ?
उत्तर : 
भाजपा को जो करना चाहिए वह कर रही है। हमारे पास नरेंद्र दास मोदी एक बेहद लोकप्रिय नेता हैं। भाजपा के पास तपस्वी कार्यकर्ताओं का एक मजबूत संगठन है। केजरीवाल का घर मुझसे मात्र 23 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। वह हमारा भाई है। हम उसकी कैपेसिटी और महत्वाकांक्षाओं को जानते हैं। पंजाब में सिद्दू मूसेवाला के दाह संस्कार में 50000 लोगों की भीड़ उमड़ी। पंजाब पुलिस के 50 जवान दिल्ली में तेजेंद्र सिंह बग्गा को पकड़ने पहुंचते हैं, लेकिन अभी तक मुसेवाला हत्याकांड के आरोपी नहीं पकड़े गए। यह पंजाब पुलिस के हालात हैं। केजरीवाल अपने रास्ते से भटक चुके हैं। आज भगवंत मान अपने कैबिनेट की ही कोई मीटिंग नहीं कर पा रहे। कल ही एक बस पंजाब में लूट ली गई। रोजाना एक बड़ी हत्या हो रही है। पंजाब के हालात सबके सामने हैं।

प्रश्न : पंजाब में जीत दर्ज करने के बाद हरियाणा में लगातार नेताओं का आम आदमी पार्टी में पलायन के घटनाक्रम को कैसे देखते हैं ?
उत्तर : 
पंजाब और हरियाणा की हवा में बहुत बड़ा अंतर है। यह महाभारत का कुरुक्षेत्र है। हरियाणा की धरती संघर्ष की धरती है। कैबिनेट पर हुई बात यहां हुक्के पर आ जाती है। आम आदमी पार्टी की परफॉर्मेंस सबके सामने हैं।

प्रश्न : भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कितना बड़ा खतरा मानते हैं ?
उत्तर : 
हम उन्हें कोई खतरा नहीं मानते। वह बड़े भाई हैं। अभी तो यह भी नहीं पता कि वह कांग्रेस में रहेंगे या कोई नई पार्टी बनाएंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static