खेतों से ट्रांसफार्मर चोरी करने वाला गैंग चढ़ा पुलिस के हत्थे, 187 वारदातों को दे चुके अंजाम

punjabkesari.in Monday, Jul 04, 2022 - 04:29 PM (IST)

करनाल : पुलिस की डिटेक्टिव स्टाफ टीम ने खेतों से ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस पूछताछ  के दौरान करनाल के थाना इन्द्री व कुंजपुरा के एरिया की 187 वारदातों को अंजाम देने का खुलासा भी किया है। आरोपियों के कब्जे से 250 किलोग्राम तांबा क्वाइल व लोहा पत्ती, एक देशी पिस्तौल व वारदात में इस्तेमाल तीन मोटरसाईकिल भी पुलिस ने बरामद की है। 

हरियाणा और उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं आरोपी

करनाल पुलिस को पिछले कुछ समय से लगातार किसानों के खेतों में लगे ट्रांसफार्मर चोरी होने की शिकायतें मिल रही थी। इसलिए  ट्रांसफार्मर  चोरी करने वालों को पकड़ना पुलिस के लिए बड़ी सरदर्दी बना हुआ था। पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान, यमुनानगर के गांव मौडी जठलाना के बिलाल, उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले ताहिर, सहारनपुर निवासी वसीम  और यमुनानगर के रादौर के रहने वाले अमजद के रूप में हुई है। पुलिस ने चारों आरोपियों को बीती 18 जून को थाना इंद्री के गांव अंशु माजरा के एरिया से चोरी की वारदात के अंजाम देते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया था। आरोपियों को 19 जून को पेश अदालत किया गया और आरोपी फिलहाल विभिन्न मामलों में पुलिस रिमांड पर चल रहे थे। इस दौरान आरोपियों ने चोरी की 187 वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल की है। इस मामले में पुलिस ने आज प्रेसवार्ता कर जानकारी साझा की है।

दिन में रेकी कर, रात 11 बजे के बाद देते थे वारदात को अंजाम

रिमांड के दौरान आरोपियों से हुई पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी ट्रांसफार्मर चोरी की वारदातों को अंजाम देने से पहले दिन के समय मोटरसाइकिल पर सवार होकर रेकी करते थे। आरोपी रेकी करने के दौरान तांबा क्वायल वाले ट्रांसफार्मरों को ही चिन्हित करते थे। जिसके बाद आरोपी रात के समय अवैध असलहे के साथ आते थे और खम्बे से ट्रांसफार्मर को नीचे गिराकर उसमें से तांबा क्वाइल व लोहे की पत्तियों को कट्टों में भरकर मोटरसाइकिलों पर रखकर मौके से फरार हो जाते थे। जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी हमेशा इन वारदातों को रात ग्यारह बजे से तीन बजे के दौरान अंजाम देते थे। आरोपी ट्रांसफार्मर चोरी करने के बाद अपने-अपने ठिकानों पर पहुंच जाते थे। आरोपी चोरी करने के बाद हमेशा अपने ठिकाने बदलते भी रहते थे। जिसके बाद आरोपी तांबा क्वाइल को सस्ते भाव में किसी कबाड़ी को बेचकर उन रूपयों से नशा करते, अय्याशी करते व अपने घर का खर्च चलाते थे। 

ट्रांसफार्मर चोरी गैंग के 5 सदस्य अब भी हैं फरार

जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपियों ने इन वारदातों को अक्टूबर 2021 से जून 2022 के दौरान अंजाम दिया था। आरोपियों से खुलासा हुआ कि आरोपियों की नौ सदस्यों की गैंग है। जिसमें से पांच आरोपी अभी फरार चल रहे हैं। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के भी प्रयास जारी हैं। जांच में यह भी सामने आया कि आरोपियों के परिवार के सदस्य भी इन वारदातों को अंजाम देते थे और वह भी जेल में कई बार सजा काट चुके हैं। डिटेक्टिव स्टाफ की टीम ने मार्च 2022 में भी ट्रांसफार्मर चोरी करने वाले एक गैंग को गिरफ्तार किया था। जिनसे 338 वारदातों को अंजाम देने बारे खुलासा हुआ था। 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static