2 किसानों का अनोखा प्रण: एक साल से पहन रहा काले कपड़े, दूसरा ने किया चप्पल पहनने से इंकार

punjabkesari.in Sunday, Nov 28, 2021 - 12:34 PM (IST)

अंबाला (अमन):  किसान आंदोलन को एक साल पूरा होने से पहले ही पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापिस लेने का ऐलान कर दिया था। संसद में इन कानूनों को रद्द करने की कवायद भी शुरू हो चुकी है। वहीं इस आंदोलन के दौरान अंबाला के दो किसान अपने अनोखे प्रणों के कारण चर्चा में रहें है। दरअसल गुलाब सिंह ने प्रण लिया था कि जब तक  किसानों की मांगे मानी नहीं जाती वो काले कपड़े ही पहनेगा। 1 साल से उन्होंने काले कपड़े ही पहने हुए है, दूसरी ओर युवा किसान लाडी ने कृषि कानूनों की वापसी तक नंगे पैर रहने का प्रण लिया था, जिसे वह अभी तक निभा रहे हैं।

गुलाब सिंह व लाडी पहले दिन से है किसान आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। गुलाब सिंह ने आंदोलन की शुरुआत में प्रण लिया था कि जब तक कृषि कानून वापिस नहीं हो जाते तब तक वह अपने काले कपड़े नही उतारेंगे। पिछले एक साल से वह धरने प्रदर्शन के दौरान हमेशा काले कुर्ते पजामे में ही नजर आए है।   

वहीं युवा लाडी एक प्राइवेट स्कूल में पीटी टीचर की नौकरी करते थे, लेकिन किसान आंदोलन से प्रभावित होकर वह नौकरी छोड़ दिल्ली बॉर्डर पर ही सेवा करने लगे। लाडी ने बताया कि उसने किसान आंदोलन की शुरुआत में प्रण लिया था कि जब तक कृषि कानून वापिस नहीं हो जाते वह नंगे पैर ही रहेंगे। अब संसद में कृषि कानूनों की वापसी पर ही वह पैर में चप्पल डालेंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static