पानी-पानी हुआ यमुनानगर, मानसून की पहली बारिश ने ही खोली निगम के इंतजामों की पोल

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 04:33 PM (IST)

यमुनानगर(सुमित): मानसून की पहली बरसात से हरियाणा में कहीं राहत मिली तो कहीं आफत की स्थिति नजर आई। शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों की सड़कें तालाब और नदियों में तब्दील हो गई हैं। यमुनानगर में भी मानसून की बरसात के सामने नगर निगम के इंतजाम नाकाफी साबित हुए हैं। स्थानीय लोगों ने कहा कि पहली बरसात में ये हाल है तो आगे क्या होगा।
प्रशासन की बदइंतजामी से आफत में बदली राहत की बारिश

पहाड़ी इलाकों के साथ ही हरियाणा में भी हो रही भारी बरसात के चलते सोम नदी और पथराला उफान पर आ गई हैं, जिसको देखते हुए प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया। वहीं शहर में भी बारिश के चलते कई जगह जलभराव हुआ है, जिससे नगर निगम के दावे धुलते नजर आए। जगह-जगह हुए जलभराव से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। दुकानदार और स्थानीय निवासी ने कहा कि बारिश के चलते जहां गर्मी से राहत मिली है, तो वहीं प्रशासन की बदइंतजामी के चलते शहर की सड़कों पर पानी भर गया है।

फेल हुए निगम के दावे, गुस्से में लोग

वार्ड 8 के पार्षद विनोद मारवाह ने कहा कि इतना पैसा खर्च करने के बावजूद भी आज शहर में ऐसे हालात हैं कि पहली ही बरसात में लोगों के घरों में पानी घुस गया है। सीवरेज ओवरफ्लो हो रहे हैं। वही स्थानीय निवासी संजय मित्तल ने कहा कि सीजन की पहली बरसात ने यमुनानगर की हालत खराब कर दी है। घर में पानी घुस गया है। निगम इतना पैसा खर्च कर रहा है तो उसे देखना चाहिए कि कहां पर समस्या है। नहीं तो आने वाले दिनों में जब मानसून की बारिश लगातार होगी तो हालात और ज्यादा खराब हो जाएंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static