हरियाणा: बीपीएल परिवार की महिलाओं को एक साल तक मुफ्त मिलेंगे सैनिटरी नैपकिन

8/2/2020 12:52:59 AM

चंडीगढ़: हरियाणा सरकार बीपीएल परिवार की महिलाओं व किशोरियों को बड़ा उपहार देने की योजना में हैं। इस योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवार की महिलाओं व किशोरियों को एक साल तक हर माह मुफ्त सैनिटरी नैपकिन सरकार की ओर से दिए जाएंगे। दरअसल, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल 5 अगस्त को 'महिला एवं किशोरी सम्मान योजना' और ‘मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना’ का शुभारंभ विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से करेंगे। इस दिन ग्राम स्तर पर आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा सैनिटरी नेपकिन एवं फोर्टिफाईड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाऊडर को घर-घर जाकर लाभार्थियों को वितरित किया जाएगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा बीपीएल परिवारों की महिलाओं व किशोरियों को रेखाकिंत किया गया है। इन बीपीएल परिवारों की 10 से 45 वर्ष की महिलाओं को ‘महिला एवं किशोरी सम्मान’ योजना के तहत सरकार ने आँगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से सैनिटरी पैड प्रदान करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार राज्य में 11,24,871 बीपीएल परिवार हैं, यह मानकर गणना की गई है कि ऐसे परिवारों में 45 वर्ष से कम की आयु की 2 किशोरियां या महिलाएं हो सकती हैं जिन्हें सैनिटरी नैपकिन दिए जाने हैं। राज्य में बी0पी0एल0 परिवार की महिलाओं की अनुमानित संख्या 22.50 लाख है। इन सभी महिलाओं और किशोरियों को एक वर्ष के लिए हर माह मुफ्त सैनिटरी नैपकिन का एक पैकेट जिसमें 6 नैपकिन रहेंगें, वितरित किए जाएंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने महिलाओं के कल्याण तथा स्वास्थ्य के लिए शुरू की जाने वाली इस महत्वाकंाक्षी योजना नामत: ‘महिला एवं किशोरी सम्मान योजना‘ के लिए 39.80 करोड़ रूपए की राशि का प्रावधान किया है। इसके अलावा, बच्चों व माताओं के स्वास्थ्य में और अधिक सुधार करने के लिए सरकार द्वारा एक अन्य योजना ‘मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना‘ आरंभ करने का भी निर्णय लिया गया है, जिसमें आँगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले बच्चों, गर्भवती महिलाओं व दूध पिलाने वाली माताओं को सप्ताह में 6 दिन, 200 मिली प्रति दिन फोर्टिफाईड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाऊडर दिया जाएगा। लाभार्थियों को उपलब्ध करवाया जाने वाला दूध छ: प्रकार के स्वाद, जैसे चॉकलेट, गुलाब, इलाईची, वनीला, प्लेन तथा बटरस्कॉच में होगा।

इस नए कार्यक्रम के क्रियान्वयन से 1-6 वर्ष के 9.03 लाख बच्चे तथा 2.95 लाख गर्भवती व दूध पिलाने वाली माताएं लाभान्वित होंगी। यह फोर्टिफाईड दूध वर्ष में कम से कम 300 दिन वितरित किया जाएगा। यह स्किम्ड मिल्क पाऊडर विटामिन ए एवं डी-3 भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के मापदण्डों अनुसार फोर्टिफाईड किया गया है। दूध एक संपूर्ण आहार है तथा इसमें प्रोटीन, कैलोरी, कैल्शियम, मैगनीशियम, बी-12, जैसे सूक्ष्म तत्व होते है तथा यह दूध विटामिन ए व डी युक्त होगा जो शरीर में इन विटामिनों की पूर्ति करेगा।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा समेकित बाल विकास योजना के अंतर्गत फोर्टिफाईड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाऊडर देने का निर्णय लिया है जोकि कुपोषण से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके अतिरिक्त इससे आँगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों की उपस्थिति में सुधार आएगा। हरियाणा डेयरी विकास कॉपरेटिव फेडरेषन लिमिटेड द्वारा वर्ष में लगभग 7200 मीट्रिक टन दूध इस योजना के अंतर्गत ग्राम स्तर पर उपलब्ध करवाया जाएगा। ये संस्थाएं हरियाणा के प्राथमिक स्कूलों में पहले से ही फोर्टिफाईड सुगंधित स्किम्ड मिल्क पाऊडर की योजना लागू कर रही हैं।

दूध तैयार करवाने के लिए वीटा हरियाणा डेयरी विकास कॉपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड द्वारा जिला व ब्लॉक स्तर के कर्मचारियों को विडियो क्लिप के माध्यम से इस संबंध में प्रशिक्षित किया जा चुका है। ग्राम स्तर पर भी आँगनवाड़ी केन्द्रों में कार्यरत आँगनवाड़ी वर्कर/हैल्पर को विभाग के प्रशिक्षित अधिकारी/कर्मचारी द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है। प्रशिक्षित आँगनवाड़ी वर्कर/हैल्पर द्वारा फोर्टिफाईड मीठा सुगंधित दूध तैयार करके राज्य के 25962 आँगनवाड़ी केन्द्रों के लाभार्थियों को वितरित किया जाएगा। लक्षित वर्ग के स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर में सुधार के लिए राज्य सरकार इस महत्वकांक्षी योजना पर 216 करोड़ रूपये की राशि व्यय करेगी।


Shivam

Related News