कुरुक्षेत्र : सैकड़ों सालों से स्थापित पितरों के स्थानों पर चला पीला पंजा, मची हाहाकार

7/31/2020 10:50:17 AM

कुरुक्षेत्र (रणदीप रौर) : धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में उस समय हाहाकार मच गई, जब प्राचीन पौराणिक पवित्र सन्नहित सरोवर परिसर में स्थित स्थानीय लोगों के पितर स्थानों पर पीला पंजा चला।दरअसल सन्नहित सरोवर कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के अधीन आता है और कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड ने काफी समय से सन्नहित सरोवर पर उन लोगों को सूचित किया था। जिन लोगों के पूर्वजों पितर स्थान वहां पर बने हुए हैं उन को चेताया गया था कि वह अपने पितर स्थानों को यहां से हटाकर किसी सुरक्षित स्थान पर ले जाएं। लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा अपने पितर स्थान वहां से शिफ्ट न किए जाने पर प्रशासन ने कार्रवाई की और पितर स्थानों को हटाने का काम शुरू किया। 

बता दें कि जब स्थानीय लोगों को यह जानकारी लगी तो सैकड़ों की संख्या में लोग जमा हो गए और कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के कार्यालय पहुंचे। स्थानीय लोगों ने कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा के कार्यालय में अपनी गुहार लगाई जहां उनको यह आश्वासन तो मिल गया है कि वह 3 दिनों के अंदर अपने पितर स्थानों को कहीं शिफ्ट कर ले। दूसरी तरफ कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा ने प्रशासन की इस कार्रवाई की कड़ी निंदा की है उन्होंने कहा कि प्रशासन ने लोगों के पितर स्थान पर यह कार्रवाई करके उनकी आस्था पर चोट की है।

उन्होंने कहा कि पहले प्रशासन को चाहिए था कि कोई उचित स्थान स्थानीय लोगों के लिए मुहैया करवाता और स्थानीय लोगों को पहले सूचना दी जानी चाहिए थी ताकि वह विधि पूर्वक मंत्रोच्चारण के साथ अपने पितर स्थानों को किसी उचित स्थान पर शिफ्ट कर लेते। उन्होंने कहा कि यह थानेसर निवासियों के पूर्वज पितरों में आस्था पर चोट है और जिसकी कड़े शब्दों में निंदा की जानी चाहिए। 

कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड ने सन्निहित सरोवर पर बाकायदा एक बड़ा बोर्ड काफी समय से लगाया गया हुआ था जहां इस तरह की चेतावनी स्थानीय लोगों को दी गई थी। लेकिन पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा ने कहा कि प्रशासन को चाहिए था कि अखबारों के माध्यम से या मुनादी के माध्यम से स्थानीय लोगों को इसके लिए पहले आगाह किया जाना चाहिए था क्योंकि सैंकड़ों सालों से स्थानीय लोगों के पितर स्थान यहां पर बने हुए थे। 

 

 


Edited By

Manisha rana

Related News