योगेश्वर दत्त ने कांग्रेस पर बोला हमला, कहा- इनकी अंग्रेजों वाली फूट डालो राज करो की नीति रही

10/20/2020 6:25:11 PM

गोहाना (सुनील): जैसे-जैसे बरोदा उपचुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे ही सभी पार्टियों ने चुनाव प्रचार भी तेज कर दिया है। इसी कड़ी में जजपा भाजपा के सांझा प्रत्याशी योगेश्वर दत्त ने भी अपने चुनाव प्रचार में तेजी लाई है। योगेश्वर दत्त के चुनाव प्रचार में उनके साथ चरखी दादरी से निर्दलीय विधायक सोमवीर सांगवान व जेजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष केसी बांगड़ भी मौजूद रहे। 

हलके के गांव में एक सभा के दौरान योगेश्वर दत्त ने कहा कि मैं तो पहले भी पूरे देश का ही सांझा था और अब भी सांझा प्रत्याशी ही हूं। क्योंकि यह चुनाव किसी पार्टी का चुनाव नहीं है, बरोदा के विकास का चुनाव है। उन्होंने कहा कि हलके का अगर विकास कराना है तो लोगों को सरकार में सांझा करना पड़ेगा। कांग्रेस तो पहले भी 10 साल राज कर चुकी है, लेकिन बरोदा में काम कुछ भी नहीं। 

PunjabKesari, haryana

बरोदा को बीजेपी ने ही दो महिला कॉलेज दिए हैं। कांग्रेस चाहती तो 10 साल के राज में भी यहां कॉलेज, आईएमटी और जनता बुटाना को विश्वविद्यालय बना सकती थी। लेकिन यह सब सुविधाएं बरोदा हलके को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ही दी हैं। हमारी सरकार ने जब भी किसानों को पानी की जरूरत पड़ी है तब पानी दिया है। बुढ़ापा पेंशन को लेकर उन्होंने कहा कि पेंशन की शुरुआत चौधरी देवीलाल ने की 100 रुपये से थी और आज बीजेपी जेजेपी की सरकार में ही 2250 हुई है। 

उन्होंने कहा कि मैं किसी जाति का नहीं हूं, मैं 36 जात के साथ हूं। मेरी एक ही जात है इंसानियत। कपूर नरवाल को लेकर योगेश्वर ने कहा कि कांग्रेस ने झांसे में लेकर उनको बीजेपी से निकालकर कांग्रेस में किया, फिर टिकट नहीं दी और बाद में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर भी उनका नामांकन पत्र उठवा लिया। उसको कहीं का नहीं छोड़ा। 

वहीं दूसरी पार्टियों को निशाना बनाते हुए योगेश्वर दत्त ने कहा कि वह लोग बरोदा हलके को जात पात में बांटेंगे. लेकिन हमें इंसानियत पर डटे रहना। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की हमेशा ही अंग्रेजों वाली फूट डालो राज करो की नीति रही है। उनको सिर्फ कुर्सी का लालच है और हमें विकास से मतलब है। योगेश्वर दत्त ने कहा कि कांग्रेस के लोग पहले जात पात पर लड़ाते हैं, क्षेत्रवाद पर लड़ाते हैं। जिस दिन गांव में घुस आएंगे तब लडाएंगे, उसके बाद ठोले में लडाएंगे और अंत में परिवार से परिवार को लड़वा देंगे‌, लेकिन बरोदा हलके को जरूरत है कि यहां के युवाओं को नौकरी मिले और यहां की बहन बेटियां को आसपास ही पढ़ने की सुविधा मिले। 

PunjabKesari, haryana

हमारा प्रयास है कि गांवों में खेलों को बढ़ावा मिले। हम यह नहीं चाहते कि 10 एकड़ में चारदीवारी करके सिर्फ खेल स्टेडियम का नाम दे दिया जाए। बल्कि हम चाहते हैं कि 1 एकड़ में स्टेडियम हो। ताकि खिलाड़ियों को हर खेल की सुविधा मिले। उनको दिल्ली या किसी दूसरी जगह जाना ना पड़े।

मौका देकर देख लो शिकायत का मौका नहीं दूंगा
योगेश्वर दत्त ने कहा कि आप एक बार मुझे मौका देकर देख लो शिकायत का मौका मैं नहीं दूंगा। मुझे कभी भी एक राजनेता के रूप में मत देखना। खिलाड़ी था और हमेशा खिलाड़ी के रूप में ही मुझे देखना। योगेश्वर ने कहा कि 10 साल पुलिस की नौकरी की अपना फायदा सोचता तो आज एसपी बन जाता, लेकिन किसी मुख्यमंत्री के सामने अपने हलके की समस्याओं को नहीं रख सकता था। राजनीति में आने का यही मकसद है कि मुख्यमंत्री तक आपकी हर समस्या को आपकी हर आवाज को पहुंचा सकूं। अंत में उन्होंने कहा कि आप लोग मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पर भरोसा रखें वह लोग आपके विश्वास पर हमेशा खरे उतरेंगे।


vinod kumar

Related News