महाशिवरात्रि आज : इस बार कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी पर बन रहा विशेष संयोग

2/21/2020 12:08:27 PM

गुडग़ांव (ब्यूरो) : शुक्रवार यानि 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर इस बार सैकड़ो साल बाद विशेष योग बन रहा है और इस दिन रुद्राभिषेक करने से देवों के देव महादेव प्रसन्न होते हैं। महाशिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ के रुद्राभिषेक का विशेष महत्व है। इस दिन रुद्राभिषेक करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और उनकी कृपा प्राप्त होती है। माना जाता है कि मां गंगा का अवतरण भगवान शिव की जटा से हुआ था।

तभी से भगवान शिव को गंगा जल से अभिषेक करने की परंपरा प्रचलित हुई। रुद्राभिषेक करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। जानकारों की मानें तो रुद्राभिषेक करने से पहले यह जरुरी है कि कुछ बातों का खास ख्याल रखा जाए। लोग कई तरह से मसलन जल, दूध, गन्ने के रस से रुद्राभिषेक करते हैं। अलग-अलग सामग्री से रुद्राभिषेक करने से उसके अलग-अलग लाभ मिलते हैं।

यह जरुरी है कि इससे पहले आवश्यक सामग्रियां रख लें अन्यथा आपकी पूजा विधि अधूरी रह सकती है। रुद्राभिषेक के लिए गाय का घी, दीपक, पुष्प, चंदन, गंध, धूप, कपूर, पान का पत्ता, सुपारी, नारियल साफ  जगह पर रख लें। रुद्राभिषेक के लिए दूध, दही, शहद, गन्ने का रस का भी प्रबंध कर लें। आपको बता दें कि फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि शुक्रवार को महाशिवरात्रि का महापर्व मनाया जाएगा। 117 वर्ष बाद फाल्गुन मास कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को इस बार एक अद्भुत संयोग बन रहा है।


Isha

Related News