गंदे पानी की निकासी के पुख्ता इंतजाम नहीं, लोग परेशान

punjabkesari.in Tuesday, Jan 25, 2022 - 08:06 PM (IST)

गुडग़ांव, ब्यूरो: मानेसर नगर निगम के गांव ढाणा में गांव के गंदे पानी की निकासी के पुख्ता इंतजाम नहीं होने के कारण गांव की सडक़ों पर गंदा पानी जमा है जिससे लोगों को यहां से निकलने में काफी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। मानेसर नगर निगम के गठन के बाद से औद्योगिक क्षेत्र में आने वाले 4 गांव की देखरेख का जिम्मा अब मानेसर नगर निगम पर आ गया है लेकिन  नगर निगम के अधिकारी इन गांव की साफ सफाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं जिससे गांव की सडक़ों पर गंदे पानी व कूड़े के ढेर लगे हुए हैं।

नगर निगम के गठन से पहले इन 4 गांव की देखरेख मारुति कंपनी के द्वारा की जाती थी। बरसाती पानी व गांव के गंदे पानी की निकासी के लिए बनाए हुए नालों की साफ-सफाई नहीं होने के कारण पानी सडक़ों पर ही जमा रहता है। 
मुख्य समस्या है कि गांव के श्मशान घाट में जाने वाले रस्ते पर भी गंदा पानी जमा है जिसके कारण दाह संस्कार के लिए जाने के लिए भी गंदे पानी से होकर निकलना पड़ता है। लेकिन निगम के अधिकारी इस समस्या को देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं काफी बार ग्राम वासियों के द्वारा इस समस्या पर आवाज भी उठाई गई है लेकिन फिर भी अधिकारियों के द्वारा इन समस्याओं पर कोई भी सुधार नहीं किया गया जिससे ग्रामवासियों में मानेसर नगर निगम के प्रति काफी रोष है। ग्राम वासियों का कहना है कि नगर निगम इन 4 गांव की सफाई के नाम पर 16 लाख रुपए का बिल हर महीने बना रहा है लेकिन सफाई के नाम पर कोई भी कार्य नहीं हो रहा है जबकि गांव की सफाई अभी भी मारुति कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा की जा रही है। 
मानेसर नगर निगम में समस्या के दिए जाने पर अधिकारी समस्या को सुलझाने के लिए एचएसआईआईडीसी के अधिकारियों के पास भेज देते हैं जिसके कारण समस्या का कोई भी समाधान नहीं हो रहा है। रामपाल ढाणा
मानेसर नगर निगम को काफी बात इन समस्याओं से अवगत कराया गया है लेकिन अधिकारी इन पर कोई भी कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। गांव के श्मशान घाट के रास्ते पर काफी पानी जमा है जिसके कारण दाह संस्कार के लिए लोगों को गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। राजेंद्र ढाणा
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

Gaurav Tiwari

Related News

Recommended News

static