राहगीरों को लूटने की योजना बना रहे 3 युवक काबू, अवैध पिस्तौल व कारतूस बरामद

punjabkesari.in Tuesday, Jan 26, 2021 - 03:20 PM (IST)

जींद : शहर के हांसी रोड स्थित वन विभाग कार्यालय के पास रविवार रात को साइड में कार खड़ी कर राहगीरों को लूटने की योजना बना रहे 3 युवकों को सी.आई.ए. स्टाफ ने दबोच लिया। पुलिस ने युवकों के कब्जे से 315 का कट्टा व 1 कारतूस, गाड़ी व दर्जन भर फर्जी ए.टी.एम. और डंडा भी बरामद किया है। पुलिस ने तीनों युवकों की पहचान कर उनके खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सी.आई.ए. स्टाफ जींद के एस.आई. राजेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें 24 जनवरी रात को सूचना मिली कि शहर के हांसी रोड स्थित वन विभाग कार्यालय के पास सड़क किनारे एक स्विफ्ट कार खड़ी है। उसमें 3 युवक हैं और अवैध असले के बल पर राहगीरों को लूटने की योजना बना रहे है।

सी.आई.ए. स्टाफ ने तुरंत टीम गठित कर छापेमारी की तो वहां पर एक स्विफ्ट कार खड़ी दिखाई दी। टीम सदस्यों ने तुरंत कार में बैठे युवकों को काबू कर लिया और उनकी तलाशी ली तो उनके कब्जे से 315 बोर का अवैध पिस्तौल, 1 कारतूस, दर्जन भर से ज्या फर्जी ए.टी.एम. और डंडा भी बरामद हुआ। पूछताथ में उन्होंने अपनी पहचान लाइनक्रॉस जुलाना निवासी सुनील उर्फ सोनू, गढ़वाली निवासी नवीन उर्फ जीतू औऱ करसोला गांव के पवन उर्फ काला के तौर पर बताई। 

जींद में आरोपियों ने की थी 23 वारदातें
पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने कबूला की वह ए.टी.एम. के अंदर ग्राहकों को लुटते थे। इस दौंरान तीनों में से एक युवक सिक्‍योरिटी गारई की वर्दी पहनता था जबकि दूसरे साथ खड़े होकर ए,टी.एम. नंबर और कार्ड बदलने का काम कर ठगी करते थे। इन आरोपियों पर 30 मुकद्टमें दर्ज हैं।

आरोपी सोनू अदालत से भगौड़ा करार
आरोपी सेन्‌ को तरवाता व जॉद अदालत ने भर्गौड़ा घोषित किया हुआ है जिसका पुराने गैंग के साथी के साथ पैसों के बंटबांर को लेकर झगड़ा हो गया था। इसलिए नवोत ब अपने दूसंर साथियों के साथ मिलकर नया गैंग बनाया है जो 2017 से लगावार इस तरह की बारदातों को अंजाम देता आ रहा है।

बुजुर्गों और महिलाओं को बनाते थे निशाना
ए.टी.एप. कार्ड बदलकर धोखाधड़ी करन वाली यह टीम बुजुर्गों व महिलाओं को निशाना बनाते हैं। बुजुर्गों को ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण वह साथ खड़े लोगों से सहायता लेते हैं। इसी का लाभ उठाकर ये लोग धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम देत रहें। इसके अलावा महिलाओं को भी इसी तरह से यह निशाना बनाते थ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Manisha rana

Related News

Recommended News

static