धोखाधड़ी: ब्लैक फंगस के इंजेक्शन के नाम पर 62 हजार की ठगी

2021-06-07T10:46:23.49

अटेली (योगेंद्र सिंह): कोरोना महामारी में आपदा को अवसर बनाने वाले लोग अब ब्लैक फंगस महामारी में भी अपना हित साधते हुए लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अटेली में सामने आया है। पार्षद सुनीता देवी की कोरोना से मौत होने के बाद उनके जेठ राजेश कुमार भी संक्रमित हो गए थे। राजेश कुमार कोरोना से जंग जीते लेकिन ब्लैक फंगस की चपेट में आ गए। 

उनके बेटे मुकुल गर्ग ने बताया कि उन्हें उपचार के लिए गुरुग्राम के एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया लेकिन म्यूकर माइकोसिस से निजात दिलाने के लिए इंजेक्शन नहीं मिला। हरियाणा सरकार की वेबसाइट पर भी फार्म भरा लेकिन सफलता नहीं मिली। इस पर उन्होंने सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगाई। इस पर डॉ. शीतल जैन नामक महिला ने मदद का आश्वासन देते हुए अपना नंबर दिया।

शनिवार को जब चिकित्सकों ने इंजेक्शन की डिमांड की तो उन्होंने शीतल जैन से संपर्क किया। इस पर उन्होंने पहले आनलाइन पेमेंट जमा करने की शर्त रखी। इस पर उन्होंने 62 हजार 470 रुपए उनके द्वारा दिए गए एक्सिस बैंक के एकाउंट में जमा करा दिए। इसके बाद से उनका फोन बंद आ रहा है। तब उन्हें धोखाधड़ी का अहसास हुआ। मुकुल ने बताया कि अब ट्वीट भी हटा दिया गया वहीं खाता भी अब गायब है, जिस पर उन्होंने इंजेक्शन सहित जो डिटेल भेजी थी। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Recommended News

static