गुरुग्राम के बाद पंचकूला होगा विश्व दर्शन का आदर्श महानगर: सीएम खट्टर

punjabkesari.in Sunday, Apr 10, 2022 - 06:56 PM (IST)

चंडीगढ़ (धरणी) : हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकारी विभागों व कार्यालयों की दृष्टि से प्रदेश की मिनी राजधानी कहे जाने वाले पंचकूला को वे विकसित पंचकूला बनाएंगे और गुरुग्राम के बाद पंचकूला विश्व दर्शन का देश का दूसरा आदर्श महानगर होगा। मुख्यमंत्री ने यह घोषणा पंचकूला के सेक्टर-3 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में आयोजित पंचकूला जिला की ‘‘जन विकास रैली’’ को संबोधित करते हुए की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला शहर का हर क्षेत्र में विकास किया जाएगा चाहे वह शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, उद्यम हो या सेवा क्षेत्र की परियोजनाएं हों। उन्होंने कहा कि पंचकूला शिवालिक की तलहटी में बसा गेटवे ऑफ  हरियाणा है। जिन नेताओं ने पंचकूला को एक छोटे से गांव से शहर के रूप में बसाया था और उसे आदर्श शहर बनाने का वायदा किया था सत्ता में आने के बाद वे उसे भूल गए और सभी परियोजनाएं गुरुग्राम में लेकर चले गए। हालांकि, गुरुग्राम प्रदेश की आर्थिक राजधानी है और यह विश्व के आईकन शहरों में शामिल है। विश्व की 200 से अधिक जानी-मानी फार्चून कंपनियों के कार्यालय गुरुग्राम में हैं। अत: उन्होंने आश्वासन दिया कि पंचकूला को भी गुरुग्राम के बराबर विकसित किया जाएगा।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलों की दृष्टि से अंतरराष्ट्रीय स्तर का खेल स्टेडियम ताऊ देवी लाल स्टेडियम, पंचकूला में ही है। आगामी जून माह में इसी स्टेडियम में ‘खेलो इंडिया’ का आयोजन किया जाएगा, जिसमें 14 हजार से अधिक खिलाडिय़ों के भाग लेने की संभावना है। इसी प्रकार, यहां पर मोरनी में टिक्कर ताल में एअर स्पोट्र्स और वाटर स्पोट्र्स व साहसिक खेलों की शुरूआत की गई है और पर्यटन की दृष्टि से पंचकूला एक उपयुक्त स्थल के रूप में उभर चुका है। उन्होंने कहा कि पंचकूला खेल, पर्यटन की दृष्टि से आदर्श शहर तो बनेगा ही और यहां स्थित श्री माता मनसा देवी मंदिर के कारण आध्यात्मिक दृष्टि से भी यह जिला प्रसिद्ध है।

पिंजौर की 60 एकड़ भूमि में बनेगी फिल्म सिटी
मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि एच एम टी पिंजौर में 60 एकड़ भूमि पर फिल्म सिटी का निर्माण करवाया जा रहा है। बॉलीवुड के कई फि ल्म निर्माताओं ने यहां आने की इच्छा व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि पंचकूला में शीघ्र ही मेडीकल कॉलेज खोला जाएगा। इसके अलावा, दिल्ली स्थित एम्ज़ की तर्ज पर माता मनसा मनसा  देवी के पास आयूष का एम्ज बनाया जा रहा है। यहां निकट नेचर कैंप थापली में दिल्ली व केरल की तर्ज पर पंचकर्मा केन्द्र स्थापित किया जा रहा है। इसी प्रकार, ओद्यौगिक दृष्टि से पंचकूला विकसित हो, इसके लिए बरवाला में एचएसआइआईडीसी द्वारा औद्योगिक संपदा वितसित की जा रही है।

प्यासा कूएं के पास जाता है, पर अब सरकारी कूँआ गरीब प्यासे के पास जाएगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार पहचान पत्र आने के बाद से प्यासा कूएं के पास जाने की कहावत को उल्टा कर दिया गया है और अब सरकारी कूँआ गरीब प्यासे के पास जाएगा और उसके घर पर ही लाभ देगा। अब केवल लाभपात्र को योजनाओं का लाभ लेने के लिए सहमति के रूप में हस्ताक्षर करने होंगे। उन्होंने कहा कि एक लाख रुपये वार्षिक से कम आय वाले व्यक्तियों की पहचान की जा रही है ताकि उन्हें उनके घर द्वार पर सुविधाओं का लाभ दिया जा सके।

आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्टैंड अप पॉलिसी न कि सिट डाउन पॉलिसी
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक लाख रुपये से कम आय वाले परिवारों की आय 1.80 लाख रुपये तक बढ़ाने के लिए अंत्योदय परिवार उत्थान मेलों का आयोजन किया गया है और उन्हें पैरों पर खड़ा करने के लिए चाहे वह किसी भी प्रकार का कारोबार हो बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे स्टैंड अप पॉलिसी में विश्वास रखते हैं जबकि कुछ नेता मुफ्त में देने की बात कह कर लोगों को आलसी बना रहे हैं और उन्हें सिट डाउन पॉलिसी दिखा रहे हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के तहत पंचकूला जिला के 55 लाभार्थियों को लाभ पत्र वितरित किये, जिसमें मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना, परिवार पहचान पत्र द्वारा सत्यापित जाति प्रमाण पत्र, आयुष्मान भारत योजना, बीपीएल राशन कार्ड योजना आदि शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला के विधायक ज्ञानचंद गुप्ता, मेयर कुलभूषण गोयल व कालका की पूर्व विधायक लतिका शर्मा द्वारा रखी गई सभी मांगों को देखते हुए वर्ष 2022-23 के लिए वे हरियाणा ग्रामीण विकास निधि के लिए 45 करोड़ रुपये तथा नगर निगम व नगर परिषद के तहत शहरी क्षेत्र के लिए 118 करोड़ रुपये की राशि की स्वीकृति प्रदान करते हैं ताकि छोटे-मोटे कार्य वे अपने स्तर पर करवा सकें।
पंचकूला महानगर का लोगो लांच करके पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण की विधिवत शुरूआत करते हुए मुख्यमंत्री ने 175 करोड़ रुपये की दो परियोजनाएं प्राधिकरण को पहले चरण के लिए देने की घोषणा की। इसके अलावा, सेक्टरों में मल्टीलैवल पार्किंग के लिए भी प्राधिकरण पीपीपी मोड के तहत कार्य करवाएगा और वीजीएफ गैप को सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री ने जिन प्रमुख योजनाओं की घोषणा की उसमें 75 करोड़ रुपये की लागत से हरियाणा अंतर्राष्ट्रीय कला सेंटर, 16 करोड़ रुपये की लागत से कजोली वाटर वक्र्स, पिंजौर, बरवाला व एमडीसी में 151 करोड़ रुपये के नये फायर स्टेशन शामिल हैं।  इसके अलावा, हाई राईज़ फायर ब्रिगेड के लिए 16 करोड़ रुपये, कालका में टांगरी नदी पर पुल तथा गांव बालदवाला के लिए डैम, नये नागरिक अस्पताल कालका के लिए 35 करोड़ रुपये, रायपुररानी पीएचसी को 25 बैड के रूप में विकसित करना, 25 लाख रुपये की लागत से पिंजौर बस स्टैंड का निर्माण, पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस पिंजौर के पास रिटेनिंग वॉल के लिए 50 करोड़ रुपये, दूनरायतन क्षेत्र में नई डिस्पेंसरी व स्कूलों को अपग्रेड करने की योजनाएं शामिल हैं।

देश के 100 शक्तिशाली व्यक्तियों की जारी सूची में मुख्यमंत्री मनोहर लाल 12वें स्थान पर
अंबाला लोकसभा सांसद रतन लाल कटारिया ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने 2014 के बाद पंचकूला जिला में लगभग 5 हजार करोड़ रुपये के विकास कार्य करवा कर कामों की बौछार की है। 55 साल में प्रदेश में जो कार्य नहीं हुए वह मुख्यमंत्री ने कर के दिखाएं हैं। उन्होंने कहा हाल ही में जारी की गई हिन्दुस्तान के 100 शक्तिशाली व्यक्तियों की सूची में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 12वें स्थान पर हैं। यहां तक कि कई बार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी कहते हैं कि जिस काम को मनोहर लाल अपने हाथ में लेते हैं उसे पूरा करके रहते हैं।

इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष व पंचकूला के विधायक तथा जन विकास रैली के आयोजक  ज्ञानचंद गुप्ता ने रैली में पधारने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हालांकि पंचकूला के विकास में मुख्यमंत्री स्वयं रूचि लेते हैं फिर भी लोगों की कुछ मांगों को वे मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत करना चाहेंगे। उनमें पंचकूला में स्थापित 7 हजार झुग्गी-झोपडिय़ों के पुनर्वास के लिए कोई योजना बनाना, घग्गर पार के सेक्टरों में एन्हांसमेंट का समाधान, धारा 7ए हटाना, रामगढ़ के पास फसलों की खरीद का सब यार्ड स्थापित करना, पंचकूला के 500 बेडिड नागरिक अस्पताल को मेडीकल कॉलेज के रूप में विकसित करना शामिल है। मुख्यमंत्री ने पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण के लोगो तथा पुस्तिका का अनावरण किया। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने पंचकूला में पिछले 7 सालों में हुए विकास पर आधारित पुस्तक का विमोचन और ‘सेवा और समर्पण के 7 साल’ डॉक्यूमेंटरी का भी अनावरण किया। इस अवसर पर हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के मुख्य प्रशासक श्री अजीत बालाजी जोशी ने मुख्यमंत्री को पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण का लोगो भेंट किया।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Manisha rana

Related News

Recommended News

static