धान की खरीद न होने से गुस्साए किसानों ने मार्केटिंग बोर्ड के दफ्तर पर ताला जड़ा

punjabkesari.in Saturday, Oct 02, 2021 - 05:25 PM (IST)

अंबाला (अमन कपूर): सरकार द्वारा धान की खरीद को एक से 11 अक्टूबर किए जाने को लेकर किसानों में भारी रोष है। कल किसान नेताओं के 2 तारीख से दिए अल्टीमेटम के बाद भी सरकार द्वारा धान की खरीद ना किए जाने की एवज में भाजपा-जजपा एमएलए, एमपी और मंत्रियों के निवास के घेराव की चेतावनी दी थी। लेकिन सरकार द्वारा आज भी धान की खरीद ना करने को लेकर गुस्साए किसान अंबाला की अनाज मंडियों में एकत्र हो गए और उन्होंने अंबाला कैंट स्थित बुआना अनाज मंडी में मार्केटिंग बोर्ड के दफ्तर पर ताला जड़ दिया। 

किसान नेताओं का कहना है कि 25 सितंबर से किसानों की धान की फसल पक चुकी है और बीच में बरसात आने की वजह से फसल गीली होने से किसानों का नुकसान भी हो रहा है। इसी के साथ सरकार द्वारा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने और बुलावे के बाद लगभग 50 हजार क्विंटल के करीब धान बुआना अनाज मंडी में खुले आसमान के नीचे पड़ा है। लेकिन सरकार ने 1 अक्टूबर से होने वाली धान की खरीद का समय बढ़ाकर 11 अक्टूबर कर दिया जिससे किसान नाराज हैं।

किसान नेता मलकीत का कहना है कि सरकार पहले तीन काले कानून थोप कर किसानों को परेशान कर रही है। अब धान फसल खरीद तारीख आगे करके किसानों को गुस्से को और बढ़ा दिया है। इसी कारण किसानों ने मंडी बोर्ड दफ्तर पर ताला लगा दिया और जब तक बात नहीं मानी जाती तब तक धरना जारी रहेगा।

वहीं मंडी बोर्ड सचिव नीरज भारद्वाज का कि ये सरकार और किसानों का मसला है, सरकार द्वारा धान खरीद की तारीख आगे बढऩे से किसान नाराज हैं। उन्होंने कहा कि इस बारे ऊपर अधिकारियों को सूचित कर दिया है, और जल्द ही इस समस्या का समाधान किया जाएगा।
 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static