कारगिल की लड़ाई में गोलियां खाने वाला फौजी साथी सहित गिरफ्तार, नशा व अफीम बरामद

2/28/2021 11:47:04 AM

चंडीगढ़ (धरणी) : कारगिल की लड़ाई में गोलियां खाने वाला फौजी देश की रक्षा करता-करता देश के नौजवानों को नशे की गोलियां बेचने लग पड़ा। जीरकपुर पुलिस ने एक रिटायर्ड फौजी व उसके एक साथी को 500 ग्राम अफीम व 1920 नशीली गोलियों सहित गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों की पहचान जसवीर सिंह उर्फ फौजी (50)निवासी गांव बसौली थाना लालडू व उसके साथी अरुण कुमार उर्फ अनु निवासी मकान नंबर -4 फस्र्ट फ्लौर मॉडर्न एन्क्लेव बलटाना के रुप में हुई है। दोनों पिछले तीन साल से नशा तस्करी का अवैध कारोबार करते आ रहे थे। हालांकि फौजी जसवीर सिंह इस समय सिल्वर सिटी हाइट्स जीरकपुर के फ्लैट नंबर-1365/3 में किराए पर रह रहा था। उक्त दोनों आरोपितों के खिलाफ जीरकपुर थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

सीआईए को मिली थी इंफर्मेशन
दरअसल दोनों आरोपित यूपी, हरियाणा, राजस्थान व पंजाब से अफीम व नशीली गोलियां खरीदकर उसके कस्टमर की डिमांड के हिसाब से मोहाली, पंचकूला, चंडीगढ़ व इसके आसपास लगते ऐरिया में ग्राहकों को सप्लाई करते थे। इस मामले का किंग पिन अरुण कुमार जिस पर पहले भी हेरोइन के दो मामले एसटीएफ थाना मोहाली में दर्ज है। अरुण कुमार व फौजी जसवीर सिंह दोनों नशा करने के आदि थे और दोनों मिलकर अपने पक्के ग्राहकों को नशा सप्लाई करते थे। आरोपित नशा ग्राहकों से व्हट्सअप कॉल का इस्तेमाल करते थे ताकि पकड़े ना जाए और हर डील कोड वर्ड के हिसाब से तय होती थी। डिमांड के हिसाब से कस्टमर तक नशा पहुंचाया जाता था। सीआईए पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि आरोपित जीरकपुर ऐरिया में ग्राहक को नशे की सप्लाई देने आ रहे हैं। पुलिस ने उन्हें डील फाइनल होने से पहले ही दबौच लिया।

कारगिल का फौजी पैसों की कमी के चलते बना अपराधी 
जसवीर सिंह उर्फ फौजी से पूछताछ में यह बात सामने आई कि वह पहले आर्मी में नौकरी करता था जिसके कारगिल की लड़ाई के समय गोलियां लगी थी जिसको यूनिट में वापिस भेज दिया गया था और वर्ष 2006 में आर्मी  से रिटायर्ड हो गया था।वह पिछले तीन साल से चंडीगढ़ में बीएसएनएल में नौकरी करता है। जो करीब पिछले 15 साल से नशा करने का आदी है। पैसों की कमी के कारण वह नशे की जरुरत को पूरा करने के लिए अपराधी बन गया और कपंनी में अपने ग्राहकों को अफीम व नशीली गोलियों की सप्लाई करता था।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।) 

 


Content Writer

Manisha rana

Related News