देश में इस समय भाजपा ही पूरी तरह अनुसूचित वर्ग, पिछड़े वर्गो, गरीबों की एकमात्र पार्टी- कटारिया

punjabkesari.in Monday, May 30, 2022 - 06:49 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के प्रधान महामंत्री एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार के सदस्य सूरजभान कटारिया ने गत दिवस राज्यसभा प्रत्याशी के लिए पूर्व मंत्री कृष्ण पंवार के नाम तय किए जाने पर पार्टी संगठन का आभार व्यक्त किया है।

सूरजभान कटारिया ने कहा कि कृष्ण पंवार की राज्यसभा में नियुक्ति सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास की नीति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के संकल्प को पूरा करती है।

उल्लेखनीय है कि श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ ने पिछले महीने कुरुक्षेत्र में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में देशभर के रविदासी समाज के लोगों ने सामाजिक राजनीतिक चिंतन करके प्रदेश के समक्ष समाज की सामाजिक आर्थिक योजनाओ पर गहन चिंतन मंथन करके प्रस्ताव पास किया था। इस अधिवेशन में मुख्य रूप से केंद्रीय सामाजिक न्याय अधिकारिता राज्यमंत्री ए नारायणस्वामी, भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री दुष्यंत कुमार गौतम, रविदासाचार्य सुरेश राठौर, हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारीलाल, पूर्व मंत्री कृष्ण पंवार, सूरज भान कटारिया आदि रविदासी समाज के प्रमुख प्रतिनिधियों ने मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित अन्य पदाधिकारियों को समाज के उत्थान के लिए मांग पत्र दिया था।

हरियाणा में पहली बार आयोजित रविदासी समाज के अधिवेशन में देश भर से रविदास जी समाज के कई राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री, कई राजयो के मंत्री, सांसद-विधायक  हजारों लोग एकत्रित हुए थे। कटारिया ने कहा कि प्रदेश की आरक्षित 17 विधानसभा सीटों और 2 लोकसभा सीटों के अलावा बिना आरक्षण के राज्यसभा की सीटों पर अनुसूचित जाति की नियुक्ति से पूरे अनुसूचित समाज में भी उत्साह का माहौल है।

उन्होंने अन्य राजनीतिक दलों सहित पंजाब की  आम आदमी पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी ने पंजाब में अनुसूचित जाति वर्ग का बहुसंख्यक वोट लिया। उन्होंने कहा की 7 राज्यसभा सांसदो में एक भी राज्यसभा सांसद अनुसूचित वर्ग का ना भेजकर पंजाब अनुसूचित जाति के हकों के साथ कुठाराघात करने का काम किया है। देश में इस समय भाजपा ही पूरी तरह अनुसूचित वर्ग, पिछड़े वर्गो, गरीबों की एकमात्र पार्टी बनकर रह गई है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static